मंदसौर में 30 युवाओं ने मिलकर बना दिया रोटी बैंकUpdated: Sun, 07 Feb 2016 09:32 PM (IST)

खयाल आया कि कम से कम हम यह तो कर ही सकते हैं कि यहां कोई भी रात को भूखा नहीं सोए।

मंदसौर (मध्यप्रदेश)। शहर के 30 युवाओं के मन में बैठे-बैठे ही खयाल आया कि कम से कम हम यह तो कर ही सकते हैं कि यहां कोई भी रात को भूखा नहीं सोए। एक विचार आया और समिति का नाम भी तय हो गया 'रोटी बैंक'। अब इन युवाओं का शाम होते ही एक ही काम है घर-घर जाकर रोटी एकत्र करना और गांधी चौराहे पर खुद सब्जी बनाकर गरीबों को भोजन कराना।

पिछले सप्ताह 3 फरवरी को ही गांधी चौराहे पर प्रारंभ हुए रोटी बैंक में शुरू दिन लगभग 10-15 लोगों ने भोजन किया था। चार दिन में यह संख्या बढ़कर 40-50 तक पहुंच गई है। रविवार रात को लगभग इतने ही लोगों ने भेजन किया। समिति से जुड़े युवा शाम को शहर के कई हिस्सों में जाकर गरीबों के लिए रोटी एकत्र कर गांधी चौराहे पर लेकर आते हैं। यहां पर सभी मिलकर सब्जी बनाते हैं और फिर गरीबों को भोजन कराया जा रहा है।

कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए

रोटी बैंक बनाने में मुख्य भूमिका निभाने वाले सुनील बंजारिया ने बताया कि हमारा लक्ष्य यही है कि शहर में कोई भी गरीब भूखा नहीं सोए। समिति से जुड़े युवा अपने-अपने क्षेत्र से रोटी का इंतजाम करते हैं। बारी-बारी से समिति के सदस्य अपनी तरफ से सब्जी उपलब्ध कराते हैं। समिति द्वारा भोजन की व्यवस्था के लिए किसी प्रकार की दान या राशि नहीं ली जा रही है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.