Live Score

भारत 7 रनों से जीता मैच समाप्‍त : भारत 7 रनों से जीता

Refresh

बीमा पॉलिसी को आधार से लिंक करना है बिल्कुल आसान, अपनाएं ये तरीकेUpdated: Tue, 13 Feb 2018 01:08 PM (IST)

इंश्योरेंस ऑफिस के नजदीकी ब्रांच ऑफिस जाकर भी आप बीमा पॉलिसी को आधार से लिंक कर सकते हैं।

नई दिल्ली। इंश्योरेंस पॉलिसी को भी अब आधार नंबर से जोड़ना अनिवार्य हो गया है। फिर चाहें वो बाइक, हेल्थ या फिर और किसी और तरह की इंश्योरेंस पॉलिसी ही क्यों न हो। प्रिवेंशन ऑफ मनी लॉन्ड्रिंग सेकेंड एक्ट के तहत बने नियमों में बीमा पॉलिसी को आधार नंबर से लिंक करना अनिवार्य किया गया है।

इंश्योरेंस रेगुलेटरी और डेवलपमेंट अथॉरिटी( IRDAI) ने भी किसी भी तरह की वित्तीय सुविधा लेने की सूरत में आधार और पैन कार्ड को बीमा पॉलिसी से लिंक करने के निर्देश दिए हैं। ऐसे में अगर आप ने भी हेल्थ, जीवन बीमा के अलावा और किसी तरह की पॉलिसी ले रखी हो, तो उसे जल्द ही अपने आधार नंबर से लिंक कर लें।

खुद IRDAI ने कंपनियों को सभी पुरानी और नई इंश्योरेंस पॉलिसी को आधार नंबर से लिंक कराने के निर्देश दिए हैं। वहीं आईआरडीएआई ने सभी कंपनियों को ये भी निर्देश दिए हैं कि जब तक आधार लिंकिंग का ये काम पूरा नहीं होता है, तब तक दावों का निराकरण न किया जाए। सभी 33 जनरल इंश्योरेंस कंपनियों के अलावा 24 जीवन बीमा कंपनियों को आधार लिंकिंग का ये काम अनिवार्य रूप से करना है।

इससे सरकार की डिजीटल इंडिया मुहिम को मदद मिलेगी। शुरुआत में भले ही इससे कुछ परेशानी हो। मगर आगे चलकर बीमा के नाम पर होने वाले फर्जीवाड़े को रोकने में इससे मदद मिलेगी। इसे पूरा करने के लिए कंपनियां पॉलिसी होल्डर्स को लगातार मैसेज भेज रही है। ऐसे में तीन तरीकों से आप आधार नंबर को अपनी इंश्योरेंस पॉलिसी से लिंक कर सकते हैं।

ऐसे करें आधार को बीमा पॉलिसी से लिंक-

बीमा पॉलिसी को आधार से लिंक करने से पहले मोबाइल नंबर को 'आधार' से जरूर लिंक कर लें। ऐसा करने से बीमा पॉलिसी को आधार से लिंक करना और आसान हो जाएगा।

रजिस्टर्ड यूजर ऐसे कर सकते हैं आधार से लिंक-

इंश्योरेंस पॉलिसी को आधार से लिंक करने के लिए रजिस्टर्ड यूजर को ये काम करना होगा।

- पहले इंश्योरेंस कंपनी के कस्टमर सर्विस पोर्टल पर जाएं

-दिए गए बॉक्स में आधार से जुड़ी तमाम जानकारियां डालें

- इसे अच्छे से जांचने के बाद सबमिट बटन पर क्लिक कर दें

-इसके बाद आधार से लिंक मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी( OTP) जनरेट होगा।

- इसके बाद आधार नंबर डालकर इंश्योरेंस पॉलिसी से इसे लिंक कर दें

नॉन रजिस्टर्ड यूजर ऐसे करें आधार से लिंक-

नॉन रजिस्टर्ड पॉलिसी होल्डर इन आसान स्टेप्स को फॉलो करते हुए आधार से लिंक कर सकते हैं।

- इंश्योरेंस कंपनी की वेबसाइट पर जाएं

- इसके बाद पैन, DOB, मोबाइल नंबर, ई-मेल आईडी, पॉलिसी नंबर और आखिर में आधार नंबर डालें

- जैसे ही आप आधार नंबर डालेंगे, आपके रजिस्टर्ड मोबाइल पर एक ओटीपी आएगा।

- इस ओटीपी को दिए गए बॉक्स में डाल दें

- जैसे ही आप ओटीपी बॉक्स मे डालेंगे, तो इंश्योरेंस पॉलिसी आधार से लिंक हो जाएगी।

पॉलिसी को आधार से ऑफलाइन भी कर सकते हैं लिंक-

- इंश्योरेंस ऑफिस के नजदीकी ब्रांच ऑफिस जाएं या फिर एजेंट से संपर्क करें

- हां, अपना ओरिजिनल आधार कार्ड ले जाना न भूलें, साथ में उसकी साइन की हुई फोटोकॉपी भी ले जाएं।

-ऑफिस में ये सारे दस्तावेज जमा कर दें, आपकी पॉलिसी आधार से लिंक हो जाएगी।

आधार लिंकिंग के लिए ये दस्तावेज हैं जरुरी-

आधार कार्ड को इंश्योरेंस पॉलिसी से लिंक करने के लिए आपको काफी कम दस्तावेज चाहिए। इन दस्तावेजों के जरिए आप लिंक कर सकते हैं।

- 12 अंकों का आधार नंबर अपने पास रखिए

-पैन नंबर या फॉर्म 60/61

बीमा पॉलिसी को आधार से लिंक करने पर मिलेगा ये फायदा-

- सबसे बड़ा फायदा है कि इससे काले धन पर लगाम लगेगी। वहीं फर्जीवाड़ा भी रूकेगा।

- आधार नंबर लिंक होने से उपभोक्ताओं को अच्छी सर्विस मिलेगी

- दावों के निराकरण में इससे तेजी आएगी। इससे क्लेम की राशि सीधे बैंक अकाउंट तक पहुंच जाएगी।

- इससे इंश्योरेंस की प्रक्रिया आसान हो जाएगी।

-सीडिंग से एक ही प्लेटफॉर्म पर तमाम वित्तीय सुविधाएं मिल जाएंगी।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.