इन क्रिकेटरों ने राजनीति में भी खेली है बेहतरीन पारी

Publish Date:Fri, 12 Jan 2018 04:35 PM (IST)

क्रिकेट में अपने खेल का डंका बजाने वाले इन खिलाड़ियों ने राजनीति ज्वाइन कर यहां भी बेहतरीन परफार्मेंस दी है। इनमें से अधिकतर खिलाड़ियों ने बीजेपी और कांग्रेस में ही रूचि दिखाई है। जाने कौन-कौन है शामिल-

सचिन तेंडुलकर- भारत के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से सम्मानित मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंडुलकर को वर्ष 2012 में राज्यसभा के सदस्य के रुप में मनोनीत किया गया। लेकिन, इनका राज्यसभा की कार्यवाही से ज्यादातर गायब रहना काफी विवादों में बना रहा है।

मोहम्मद कैफ- भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व सदस्य और बेहतरीन फील्डर कैफ ने वर्ष 2014 में कांग्रेस ज्वाईन कर नेहरु की परंपरागत सीट फूलपुर से लोकसभा का चुनाव लड़ा था लेकिन वे बीजेपी के केशव प्रसाद मौर्या से भारी अंतर से हार गए थे।

कीर्ति आजाद- बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री भागवत झा आजाद के बेटे हैं। कीर्ति विस्फोटक बल्लेबाज भी रह चुके हैं। पहले दिल्ली से एमएलए रहे आजाद वर्तमान में भाजपा से लोकसभा सदस्य हैं लेकिन पार्टी विरोधी गतिविधियों के कारण इन्हें 2015 में पार्टी से सस्पेंड किया जा चुका है।

मोहम्मद अजहरुद्दीन- हैदराबाद में जन्में इस पूर्व भारतीय कप्तान ने वर्ष 1984-85 में इंग्लैंड के विरुद्ध अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की थी। 99 टेस्ट और 334 वनडे मैच खेल चुके इस खिलाड़ी ने वर्ष 2009 में यूपी के मुरादाबाद से लोकसभा चुनाव लड़ा और सांसद बने।

नवजोत सिंह सिद्धू- भारत की तरफ से 51 टेस्ट और 136 वनडे खेल चुके सिद्धू ने वर्ष 2004 के लोकसभा चुनाव में भाजपा के टिकट पर जीत हांसिल की थी। अमृतसर सीट को अरुण जेटली को देने से नाराज होकर इन्होंने बीजेपी से इस्तीफा दे दिया। बाद में सिद्धू कांग्रेस ज्वाइन कर पंजाब से एमएलए बने और वर्तमान में वहां की कैबिनेट में मंत्री भी हैं।

चेतन चौहान- भारत की तरफ से 40 टेस्ट और 7 वनडे मैच खेल चुके इस सलामी बल्लेबाज ने बीजेपी ज्वाईन कर यूपी की अमरोहा से लोकसभा का प्रतिनिधित्व किया है। वर्तमान में वे बीजेपी के एमएलए होने के साथ यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री भी हैं।

मनोज प्रभाकर- भारत की तरफ से 39 टेस्ट मैच और 130 वनडे खेल चुके मनोज प्रभाकर ने 2004 में कांग्रेस ज्वाईन कर दिल्ली की लोकसभा सीट से चुनाव लड़ा लेकिन, दुर्भाग्य से यह चुनाव जीत नहीं पाए। इसके बाद वे राजनीति में उतने एक्टिव नहीं रहे।

मंसूर अली खान पटौदी- भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान नबाब मंसूर अली खान पटौदी ने 46 टेस्ट मैच खेले हैं जिसमें से उन्होंने 41 मैचों में कप्तानी भी की है। वर्ष 1971 में विशाल ह्रदय पार्टी की तरफ से चुनाव हार चुके पटौदी ने दोबारा 1991 में भोपाल से लोकसभा चुनाव लड़ा लेकिन इस बार भी इन्हें असफलता हांसिल हुई।