राजनेताओं की सफलता में उनकी पत्नियों का है बड़ा योगदान, देखें तस्वीरें

Publish Date:Tue, 13 Feb 2018 06:47 PM (IST)

भारतीय राजनीति में दिखने वाले सभी नेताओं की सफलता में उनकी पत्नियों का योगदान किसी से छिपा नहीं है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ प्रसिद्ध जोड़ियों के बारे में बताने जा रहे हैं जिन्होंने पति का हमेशा साथ दिया है।

देवेन्द्र फड़नवीस- महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेन्द्र फड़नवीस की सफलता में उनकी पत्नी अमृता फड़नवीस का बड़ा योगदान है। अमृता पेशे से बैंकर हैं। इनकी एक बेटी दिविजा है। अमृता फड़नवीस एक गैर राजनीतिक परिवार से हैं।

राज ठाकरे- महाराष्ट्र नव निर्माण सेना के मुखिया राज ठाकरे की पत्नी शर्मीला ठाकरे हैं। ये भी अक्सर पार्टी के कई कार्यक्रमों में मंच पर दिखती रहती हैं।

उद्धव ठाकरे- बाला साहब ठाकरे के पुत्र और वर्तमान शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे की पत्नी भी राजनीति में सक्रिय रहती हैं। इनका विवाह 13 दिसंबर 1988 को हुआ था। इनके दो बेटे तेजस और आदित्य हैं।

वेंकैया नायडू- भारत के उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने अपने राजनीतिक पारी शुरुआत बीजेपी से की थी। वह 1971 में उषा नायडू के साथ वैवाहिक बंधन में बंधे। राजनीति की शुरुआत से लेकर भारत के उपराष्ट्रपति बनने तक के सफर में इनकी पत्नी ने हमेशा साथ दिया है।

शत्रुघ्न सिन्हा- फिल्मी स्टार और भाजपा के टिकट पर पटना साहिब से लोकसभा सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने बॉलीवुड अभिनेत्री पूनम सिन्हा से शादी की है। कई मौकों पर पूनम को शत्रुघ्न सिन्हा के साथ देखा गया है।

सुब्रह्मण्यम् स्वामी- भाजपा के इस प्रभावी नेता की पालिटिकल लाइफ में उनकी पत्नी रोक्सना स्वामी का बड़ा योगदान रहा है। इन दोनों की मुलाकात पढ़ाई के दौरान हुई थी।

अखिलेश यादव- उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव कन्नौज से लोकसभा सांसद हैं। आर्मी कर्नल की बेटी डिंपल की शादी वर्ष 1999 में अखिलेश यादव के साथ हुई। डिंपल अक्सर अपने पति के साथ चुनावी मंच सांझा करते हुुए दिख जाती हैं।

नवजोत सिंह सिद्धू- वर्तमान में पंजाब सरकार में कैबिनेट मंत्री बने सिद्धू इससे पहले भाजपा से सांसद रहे हैं। लेकिन यह अजब संयोग ही था कि इनकी पत्नी कांग्रेस से एमएलए रहीं जबकि उस दौर में ये बीजेपी से सांसद थे।

लालू प्रसाद यादव- बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और वर्तमान में चारा घोटाले में सजा काट रहे लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी भी बिहार की मुख्यमंत्री रह चुकी हैं। पति की अनुपस्थिति में पार्टी के सुचारू संचालन की जिम्मेदारी निभाने वाली राबड़ी पिछला लोकसभा चुनाव हार गई थीं।