अनंत चतुर्दशी पर झिलमिलाती परंपरा से रोशन हुआ इंदौर

Publish Date:Tue, 05 Sep 2017 11:08 PM (IST)

100 साल से जिसे इंदौर ने सहेजा, मजदूरों की मेहनत ने तराशा, वह परंपरा मंगलवार को फिर झिलमिलाती झांकियों के रूप में शब ए मालवा को यादगार बना गई।

पौराणिक कथाओं पर आधारित झांकियों ने लोगों का मन मोह लिया।

शहरवासियों ने 30 से ज्यादा झांकियों के साथ कदमताल किया।

झांकियों के मार्ग पर बच्चों के लिए खिलौनों की दुकानें भी सजी थी।

आकर्षक रोशनी से सुसज्जित झांकियों की छटा देखते ही बनती थी।

लोग भजनों पर नाचे, डीजे पर थिरके और थके, लेकिन उत्साह में कोई कमी नहीं रखी। शाम से ही झांकी रूट गुलजार था।

सबसे पहले खजराना गणेश की झांकी बढ़ी। दूसरे क्रम पर आईडीए की झांकी ने चलना शुरू किया।

झांकी मार्ग पर जिस तरफ नजर जाती लोगों का सैलाब नजर आता।

झांकियों में विलंब हुआ तब भी लोग डटे रहे।

अखाड़े में अपने करतब दिखाती कलाकार।