विश्व धरोहर सप्ताह : स्मारक में मुफ्त था प्रवेश, लेकिन वेबसाइट पर बेची टिकटUpdated: Mon, 27 Nov 2017 09:11 PM (IST)

विश्व धरोहर सप्ताह के पहले दिन स्मारकों में प्रवेश मुफ्त थे, लेकिन वेबसाइट पर टिकट बेच दिए गए।

आगरा। विश्व धरोहर सप्ताह के पहले दिन स्मारकों में प्रवेश मुफ्त थे, लेकिन वेबसाइट पर टिकट बेच दिए गए। एक विदेशी पर्यटक ने इसकी शिकायत पर्यटन विभाग से की है। उसने टिकट की रकम वापस मांगी है। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआइ) में रिफंड का कोई प्रावधान नहीं होने से फिलहाल यह संभव नजर नहीं आ रहा है।

एएसआइ ने 19 से 25 नवंबर तक विश्व धरोहर सप्ताह मनाया। इसकी शुरुआत के दिन 19 नवंबर को सभी स्मारकों में देसी-विदेशी पर्यटकों के लिए प्रवेश मुफ्त रखा गया था। स्मारकों पर टिकट विंडो बंद थे। टिकट विंडो तो बंद कर दिए गए लेकिन एएसआइ की वेबसाइट पर ताज की ऑनलाइन टिकट बिक्री जारी रही।

फिलीपींस से आए पैट्रिक नोनाटो ने जानकारी के अभाव में वेबसाइट से ऑनलाइन टिकट खरीद ली। पैट्रिक जब ताज पर पहुंचे तो पता चला कि स्मारक में प्रवेश मुफ्त है। पैट्रिक ने इस पर सवाल उठाते हुए पर्यटन विभाग में शिकायत की है। पर्यटन विभाग ने पूरे प्रकरण से एएसआइ को अवगत कराया है।

अधीक्षण पुरातत्वविद डॉ. भुवन विक्रम ने बताया कि पहले टिकट कैंसिलेशन की रेलवे की तरह पॉलिसी बनानी होगी। उसके बाद ही रिफंड की व्यवस्था हो सकेगी। यह मामला महानिदेशक के स्तर पर ही देखा जा सकता है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.