एनजीटी ने बढ़ाया वायु प्रदूषण मामले का दायराUpdated: Wed, 06 Jan 2016 10:32 PM (IST)

कोलकाता, लखनऊ, कानपुर, पटना जैसे शहरों की हवा की गुणवत्ता को लेकर मांगा जवाब।

नई दिल्ली। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल (एनजीटी) ने दिल्ली में वायु प्रदूषण के मामले से निपटने में सुप्रीम कोर्ट की रोक के बाद इस मामले में सुनवाई का दायरा बढ़ा दिया है। एनजीटी ने कोलकाता, लखनऊ, कानपुर और पटना जैसे शहरों में बिगड़ती हवा की गुणवत्ता को लेकर जवाब मांगा है।

दिल्ली को छोड़कर उसने मुंबई, कोलकाता, बेंगलुरु, चेन्नई, लखनऊ, इलाहाबाद, कानपुर, वाराणसी, पटना, नागपुर, हैदराबाद, लुधियाना, जालंधर, अमृतसर और पुणे में वायु प्रदूषण पर नजर डाली है। संबंधित राज्यों से इस मामले में व्यापक हलफनामा देकर यह बताने को कहा है कि वायु प्रदूषण को रोकने और नियंत्रण के लिए क्या कदम उठाए हैं।

एनजीटी ने राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्डों को केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की सहायता से इन शहरों की हवा की गुणवत्ता के सैंपल लेने और नौ फरवरी तक उसकी रिपोर्ट सौंपने का निर्देश भी दिया।

एनजीटी अध्यक्ष स्वतंत्र कुमार की अध्यक्षता वाली पीठ ने कहा कि दिल्ली में वायु प्रदूषण के मामले सुप्रीम कोर्ट में होने के बाद हमने विचार किया कि ट्रिब्यूनल को अभी कोई निर्देश जारी नहीं करना चाहिए। इसलिए अभी हम दिल्ली के अतिरिक्त वायु प्रदूषण के मामले की याचिकाओं की सुनवाई करेंगे।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.