एनजीटी प्रमुख खुद लेंगे गंगा के प्रदूषण का जायजाUpdated: Tue, 02 May 2017 08:58 PM (IST)

एनजीटी के प्रमुख गंगा में फैल रहे प्रदूषण को खुद जाकर देखेंगे।

नई दिल्ली। एनजीटी के प्रमुख गंगा में फैल रहे प्रदूषण को खुद जाकर देखेंगे। इस आशय का फैसला करते हुए उन्होंने उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड सरकार को हिदायत दी कि इस बाबत अपनी तैयारी सुनिश्चित करे।

ट्रिब्यूनल के रजिस्ट्रार से दोनों सरकारों को निरीक्षण की तारीख की जानकारी मिल जाएगी। जस्टिस स्वतंत्र कुमार का यह फैसला अपने आप में महत्वपूर्ण है, क्योंकि इससे पहले किसी भी मामले में एनजीटी विशेषज्ञों की कमेटी बनाकर रिपोर्ट हासिल करती रही है।

यह पहली बार है कि ट्रिब्यूनल के प्रमुख खुद जाकर प्रदूषण का जायज लेंगे। गंगा से जुड़े मामले की सुनवाई के दौरान उन्होंने कहा कि पहले चरण में कानपुर में जाकर गंगा में मिल रहे प्रदूषक तत्वों को देखेंगे।

मंगलवार को हुई सुनवाई के दौरान बेंच में उनके साथ जस्टिस जावेद रहीम, आरएस राठौड़ भी शामिल रहे। गौरतलब है कि ट्रिब्यूनल में गंगा को लेकर लंबे अर्से से सुनवाई चल रही है।

पिछली तिथि में गंगा के बहाव को लेकर बहस की गई थी। याचिका में कहा गया था कि उन्नाव तक के हिस्से में गंगा का बहाव कम हो गया है, क्योंकि ड्रेन के जरिये गंगा के पानी का दोहन किया जा रहा है। ट्रिब्यूनल ने तब कहा था कि पानी का दोहन कम से कम हो।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.