Live Score

भारत 7 रनों से जीता मैच समाप्‍त : भारत 7 रनों से जीता

Refresh

शोपियां में हमला, जवाबी कार्रवाई पर जान बचाकर भागे आतंकीUpdated: Fri, 12 Jan 2018 11:06 PM (IST)

दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शुक्रवार को आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर घात लगाकर हमला किया, लेकिन कोई नुकसान नहीं हुआ।

श्रीनगर। दक्षिण कश्मीर के शोपियां में शुक्रवार को आतंकियों ने सुरक्षाबलों पर घात लगाकर हमला किया, लेकिन कोई नुकसान नहीं हुआ। सुरक्षाबलों की जवाबी कार्रवाई के बाद आतंकियों को जान बचाकर भागना पड़ा।

शाम करीब सात बजे शोपियां के अंतर्गत कीगाम पुलिस चौकी से पुलिस व अर्धसैनिकबलों का एक दल नियमित गश्त के लिए रवाना हो रहा था। तभी पास एक गली में पहले से घात लगाए बैठे आतंकियों ने उनपर फायरिंग कर दी। जवानों ने खुद को बचाते हुए जवाबी फायर किया।

करीब पांच से सात मिनट तक दोनों तरफ से गोलियां चलीं और इसके बाद आतंकी अपनी जान बचाते हुए वहां से भाग निकले। डीआइजी दक्षिण कश्मीर रेंज डॉ. एसपी पाणी ने कहा कि हमलावर आतंकियों की तलाश में अभियान जारी है।

इस बीच, जिला पुलवामा में त्राल तहसील के अंतर्गत स्थित शरीफाबाद गांव में दो आतंकियों के अपने किसी संपर्क सूत्र के पास आने की सूचना मिलते ही सुरक्षाबलों ने कार्डन एंड सर्च ऑपरेशन (कासो) चलाया। देर शाम तक जारी रहे अभियान में आतंकियों का सुराग नहीं मिला। बता दें कि शरीफाबाद गांव मारे जा चुके हिजबुल के आतंकी कमांडर बुरहान वानी का पैतृक गांव है।

पुंछ व उड़ी में पाकिस्तान ने दागे गोले, जवान घायल-

पाकिस्तान ने शुक्रवार को फिर नापाक हरकत करते हुए नियंत्रण रेखा पर जम्मू संभाग के पुंछ व उत्तरी कश्मीर के उड़ी सेक्टर में घुसपैठ करवाने के लिए भारतीय ठिकानों पर भारी गोलाबारी की। भारतीय जवानों ने भी जवाबी कार्रवाई कर घुसपैठ के प्रयास को नाकाम बना दिया।

इस दौरान पुंछ सेक्टर के मालती क्षेत्र में भारतीय सेना का एक जवान घायल हो गया। जवान की पहचान गोरखा राइफल के पुष्कर सिंह के रूप में हुई है।

प्राथमिक उपचार के बाद जवान को एयरलिफ्ट कर ऊधमपुर में सेना के कमान अस्पताल में रेफर कर दिया गया है। पुंछ में देर शाम तक दोनों तरफ से गोलाबारी जारी रही। तड़के करीब तीन बजे एलओसी पार गुलाम कश्मीर में स्थित पाकिस्तानी सैनिकों ने अपने ठिकानों से उड़ी के कमलकोट इलाके में भारतीय ठिकानों पर अचानक गोलाबारी शुरू कर दी।

पाकिस्तानी सैनिकों ने पहले हल्के हथियारों से फायरिंग की और कुछ ही देर बाद उन्होंने मोर्टार व तोप के गोले दागने शुरू कर दिए। अधिकारियों ने बताया कि शुरू में भारतीय जवानों ने इसे उकसावे की कार्रवाई समझकर संयम बनाए रखा, लेकिन जब गोलाबारी की तीव्रता बढ़ने लगी और गांव में भी गोले गिरे तो भारतीय जवानों ने जवाबी प्रहार शुरू कर दिया।

इसके बाद सुबह करीब पांच बजे पाकिस्तानी बंदूकें शांत हुईं। इसके बाद उड़ी सेक्टर के सभी अग्रिम इलाकों में सेना ने सघन तलाशी अभियान चलाया। इसके साथ ही सभी फील्ड कमांडरों को किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह अलर्ट रहने का निर्देश जारी किया गया है।

इस बीच, उड़ी सेक्टर में दो दिन पहले एक अग्रिम इलाके में गश्त के दौरान बारूदी सुरंग की चपेट में आए आठ राष्ट्रीय राइफल के जवान कुलदीप कुमार को शुक्रवार को बारामुला स्थित सैन्य अस्पताल से श्रीनगर स्थित सेना के बेस अस्पताल में रेफर कर दिया गया।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.