चंबल अंचल में बढ़ी ठंड, मुरैना-भिंड में बदला स्कूल का समयUpdated: Tue, 02 Jan 2018 07:31 PM (IST)

कश्मीर सहित हिमाचल में हो रही बर्फबारी का असर अब ग्वालियर अंचल पर भी पड़ रहा है।

मुरैना/श्योपुर। कश्मीर सहित हिमाचल में हो रही बर्फबारी का असर अब ग्वालियर अंचल पर भी पड़ रहा है। कोहरे और शीत लहर के बीच दिन और रात का पारा लगातार गिर रहा है। मुरैना में 6 डिसे और श्योपुर में 9.6 डिसे पर पहुंचे पारे से दिन व रात में लोग कांपते रहे।

इस बीच मुरैना कलेक्टर भास्कर लाक्षाकार ने मिडिल तक के स्कूलों का समय सुबह नौ बजे से कर दिया है। भिंड और छतरपुर के कलेक्टरों ने भी निजी और सरकारी स्कूलों को निर्देश दिए हैं कि वे सुबह नौ बजे से पहले बच्चों को स्कूल न बुलाएं।

फसल के लिए फायदेमंद

आम जन जहां भीषण ठंड से परेशान हैं वहीं अंचल के किसानों को राहत मिली है। गेहूं और सरसों की फसल के लिए ठंड काफी फायदेमंद है। अब दोनों ही फसलों में अच्छे उत्पादन की उम्मीद किसानों को है।

मावठ की बारिश होने की भी उम्मीद

अंचल के ऊपर बादलों के छाने से उम्मीद बंधी है कि मावठ की बारिश होगी। मौसम विभाग के मुताबिक भी आगामी दिनों में हल्की बारिश हो सकती है। यदि बारिश होती है तो अंचल में ठंड का प्रकोप और बढ़ जाएगा, लेकिन बारिश से फसलों को काफी फायदा होगा। किसानों की सरसों व गेहूं की एक-एक सिंचाई बच जाएगी। साथ ही मावठे से अन्य दलहनी फसलों को भी फायदा होगा।

इनका कहना है

उत्तर पश्चिमी हवाओं के असर के कारण सर्दी बढ़ गई है। अभी और घना कोहरा छा सकता है। अधिकतम तापमान में गिरावट दर्ज की गई है।

रमेश शर्मा, मौसम विशेषज्ञ, मुरैना

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.