Live Score

भारत 8 विकेट से जीता मैच समाप्‍त : भारत 8 विकेट से जीता

Refresh

वॉट्सएप का इस्तेमाल करते हैं, तो संभल जाएं, कोई देख रहा है आपकोUpdated: Thu, 12 Oct 2017 11:49 AM (IST)

मैसेजिंग सर्विस वॉट्सएप आज लगभग प्रत्येक स्मार्टफोन में मौजूद है।

इंदौर, नईदुनिया रिपोर्टर। मैसेजिंग सर्विस वॉट्सएप आज लगभग प्रत्येक स्मार्टफोन में मौजूद है। युवाओं के बीच मैसेजिंग के लिए सबसे ज्यादा इसका इस्तेमाल किया जाता है। इस पर पर्सनल के साथ ग्रुप चैटिंग की सुविधा होने से यह सर्वाधिक लोकप्रिय भी है, लेकिन अधिकांश लोग इसके खतरों से अनजान हैं।

हाल ही में अमेरिकी तकनीकी विशेषज्ञों ने वॉट्सएप में एक बड़ी खामी के बारे में आगाह किया है। उन्होंने खुलासा किया है कि हैकर्स वॉट्सएप इस्तेमाल करने वालों की गतिविधियों पर नजर रख सकते हैं। हैकर ऑनलाइन स्टेटस की मदद से सोने और जागने के तौर-तरीकों के अलावा आप किससे बात करते हैं, इसकी जानकारी भी जुटा सकता है। इस डाटा को विज्ञापन के लिए तीसरे पक्ष को बेचने की आशंका जताई गई है।

सेफ्टी फीचर्स हैं, लेकिन इस्तेमाल नहीं करते यूजर

साइबर एक्सपर्ट अविनाश त्रिपाठी कहते हैं वॉट्सएप बेशक आज की सबसे लोकप्रिय मैसेजिंग सर्विस है, लेकिन इसके खतरों से भी इनकार नहीं किया जा सकता। इसमें सबसे बड़ी समस्या प्रायवेसी की है। हालांकि वॉट्सएप एप बनाने वाली कंपनी ने अपनी तरफ से इसमें कई सेफ्टी फीचर्स दे रखे हैं, लेकिन अधिकांश यूजर उनका इस्तेमाल नहीं करते।

इसमें ऑनलाइन-ऑफलाइन स्टेटस, डीपी (डिस्प्ले पिक्चर) आप किसे दिखाना चाहते हैं, किसे नहीं और लास्ट सीन को हाइड करने जैसे कई फीचर हैं, लेकिन कम ही लोग इनका इस्तेमाल करते हैं। त्रिपाठी कहते हैं यह बात पहले भी उठ चुकी है कि वॉट्सएप पर सेंड-रिसीव किए जाने वाले तमाम मैसेज, फोटो, वीडियो हैकर्स आसानी से देख सकते हैं और उनका गलत इस्तेमाल कर सकते हैं। यह बात काफी हद तक सही भी है।

फोटो, वीडियो भेजते समय रखें सावधानी

सायबर एक्सपर्ट राकेश अग्रवाल कहते हैं सिर्फ वॉट्सएप ही नहीं, तमाम सोशल मीडिया मैसेंजर हमेशा हैकर्स के निशाने पर रहे हैं। इसलिए यूजर को इस पर फोटो, वीडियो शेयर करते समय अत्यंत सावधानी रखना चाहिए। अपना कोई भी पर्सनल फोटो, वीडियो या निजी बात कभी भी वॉट्सएप या किसी भी सोशल मीडिया पर शेयर न करें।

आजकल वॉट्सएप पर लोग अपने महत्वपूर्ण दस्तावेज भी शेयर करते हैं, जो वाकई बहुत गलत है। इनका आसानी से कहीं भी कोई भी गलत इस्तेमाल कर सकता है। हंसी-मजाक के जोक तक तो इनका इस्तेमाल ठीक है, लेकिन गोपनीय बातों और दस्तावेजों के लिए यह खतरनाक भी साबित हो सकता है।

सबसे ज्यादा सायबर क्राइम सोशल मीडिया पर

एक रिपोर्ट के अनुसार देश में सामने आने वाले कुल सायबर क्राइम के सबसे ज्यादा शिकार लोग सोशल मीडिया के जरिए होते हैं। इनमें फेसबुक, मैसेंजर, वॉट्सएप जैसे ऐप सबसे रिस्की हैं। देश में कई घटनाएं सामने आ चुकी हैं जिनमें फेसबुक पर फेक आईडी के जरिए लोगों को ठगने, युवतियों को जाल में फंसाने जैसे मामले सामने आए। कई मामलों में तो युवतियों ने किसी मित्र पर भरोसा करके उसे अपने निजी फोटो, वीडियो भेजे और वे वायरल हो गए। निजी जानकारी वायरल होने के बाद बदनामी के डर से आत्महत्या जैसे मामले भी सामने आ चुके हैं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.