Live Score

भारत 8 विकेट से जीता मैच समाप्‍त : भारत 8 विकेट से जीता

Refresh

एटीएम कार्ड लिया ही नहीं और खाते से निकल गए लाखों रूपयेUpdated: Thu, 12 Oct 2017 07:06 PM (IST)

दस साल तक एक-एक पैसा जोड़कर बैंक में डेढ़ लाख रुपए जमा किए। कोई ठगी न कर ले इस डर से एटीएम नहीं लिया।

ग्वालियर। दस साल तक एक-एक पैसा जोड़कर बैंक में डेढ़ लाख रुपए जमा किए। कोई ठगी न कर ले इस डर से एटीएम नहीं लिया। पर किसी ने एटीएम के जरिए खाते से 1.5 लाख रुपए निकाल लिए। घटना साल 2014 से 2017 के बीच महाराज बाड़ा स्थित एसबीआई की है। पीड़ित ने कोतवाली थाने में शिकायत की है। जब उन्होंने एटीएम के लिए आवेदन किया ही नहीं तो वह कैसे बन गया और किसे दे दिया गया। पीड़ित ने बैंक प्रबंधन पर संदेह जताया है। पुलिस ने फिलहाल ठगी का मामला दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

घाटीगांव थाना क्षेत्र के रेहट निवासी आदिराम बघेल ने वर्ष 2004 में पत्नी विमला बाई (50) के नाम से भारतीय स्टेट बैंक जीवाजी चौक महाराज बाड़ा में एक सेविंग अकाउंट खोला था। उनका सोचना था कि बचत को वह बैंक में जोड़कर रखेंगे तो उसे भविष्य में काम में ले सकेंगे।

साल 2014 तक उन्होंने डेढ़ लाख रुपए बचत खाते में जमा किए। अपनी तरफ से सतर्कता बरतते हुए उन्होंने खाते के लिए एटीएम कार्ड भी नहीं लिया। जुलाई 2017 में जब आदिराम पत्नी के साथ बैंक में नकदी निकालने पहुंचे तो उन्हें खाते में जीरो बैलेंस होने का पता लगा। उन्होंने बैंक प्रबंधन से बात की पर कुछ खास मदद नहीं हो सकी। इसके बाद वे कोतवाली थाने पहुंचे और आवेदन दिया। पुलिस ने जांच के बाद ठगी का मामला दर्ज कर लिया है।

तीन साल में इस तरह निकले रुपए

आदिराम बघेल ने बताया कि उनके खाते से साल 2014 में 38000 रुपए निकाले गए। इसके बाद वर्ष 2015 में 37000 और वर्ष 2017 में 57000 रुपए निकाले गए हैं।

बैंक ने कैसे बना दिया एटीएम

बैंक ने पीड़ित को जानकारी दी है कि उनके नाम से बने एटीएम कार्ड से पैसे निकाले गये हैं। पीड़ित का आरोप है कि न तो उन्होंने एटीएम कार्ड लिया और न ही उसके लिए आवेदन किया था, जबकि पूरे पैसे एटीएम कार्ड के जरिए निकले हैं। उन्होंने बैंक प्रबंधन की भूमिका पर संदेह जताया है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.