Live Score

भारत 8 विकेट से जीता मैच समाप्‍त : भारत 8 विकेट से जीता

Refresh

प्रदेशभर से पदाधिकारियों का जमावड़ा, इंदौर के नेताओं ने सबसे पहले दर्ज कराई आमदUpdated: Fri, 21 Apr 2017 03:58 AM (IST)

राजगढ़। नईदुनिया न्यूज मोहनखेड़ा में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुरू होने से पहले गुरुवार से ही यहां प्रदेशभर से पार्टी पदाधिकारियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया। सबसे पहले धार जिले के प्रभारी मंत्री अंतरसिंह आर्य के अलावा इंदौर के नेताओं ने आमद दर्ज कराई। देश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की सभी ने अगवानी की। शाम को प्रदेश पदाि

राजगढ़। नईदुनिया न्यूज

मोहनखेड़ा में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक शुरू होने से पहले गुरुवार से ही यहां प्रदेशभर से पार्टी पदाधिकारियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया। सबसे पहले धार जिले के प्रभारी मंत्री अंतरसिंह आर्य के अलावा इंदौर के नेताओं ने आमद दर्ज कराई। देश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की सभी ने अगवानी की। शाम को प्रदेश पदाधिकारियों की एक बैठक बंद कमरे में हुई। प्रभारी मंत्री आर्य यहां दो दिन से डेरा डाले हुए हैं।

इंदौर से आने वालों में विधायक सुदर्शन गुप्ता, उषा ठाकुर, इंदौर जिला पंचायत अध्यक्ष कविता पाटीदार, उमेश शर्मा, सूरज कैरो सहित अन्य नेता पहुंचे। इनके अलावा सरदारपुर विधायक वेलसिंह भूरिया, विधायक रंजना बघेल भी पहले पहुंचकर सक्रिय नजर आए। संभागीय संगठन मंत्री जयपालसिंह चावड़ा, सांसद सावित्री ठाकुर, भाजपा जिलाध्यक्ष राज बर्फा, जिला महामंत्री उमेश गुप्ता, मनोज सोमानी, मुकामसिंह रावत, दिलीप पटोंदिया, देवेंद्र पटेल, जिला पंचायत अध्यक्ष मालती पटेल, जिला सहकारी केंद्रीय बैंक अध्यक्ष राजीव यादव आदि मेहमान पदाधिकारियों की व्यवस्था में जुटे रहे।

प्राकृतिक धरोहर की लगी प्रदर्शनी

दो दिवसीय बैठक को लेकर आयोजन स्थल के मुख्य द्वार से अंदर जाते ही प्रदर्शनी लगाई गई है। इसमें प्रदेश की प्राकृतिक, ऐतिहासिक और धार्मिक महत्व की धरोहरों को दर्शाया गया है। इसके अलावा शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं का भी प्रचार किया गया है। वरिष्ठ नेताओं के जीवन संघर्ष की गाथाएं भी लिखी गई हैं।

अलग-अलग संभाग के कार्यकर्ताओं का पंजीयन

मुख्य द्वार के समीप ही अलग-अलग संभाग से शामिल होने वाले कार्यकर्ताओं के पंजीयन के लिए स्टॉल बनाए गए हैं। इसमें उज्जैन, इंदौर, रीवा, जबलपुर, ग्वालियर, सागर संभाग के स्टॉल हैं। इसमें संबंधित संभाग से आने वाले पदाधिकारियों के पंजीयन किए जा रहे हैं।

तीन बजे से मोहनखेड़ा में लगा जमावड़ा

बैठक को लेकर दोपहर तीन बजे से पदाधिकारियों के आने का सिलसिला शुरू हो गया था। शाम होते-होते प्रदेश समेत जिले के वरिष्ठ नेताओं का मोहनखेड़ा में जमावड़ा हो गया। व्यवस्थाओं के सुचारू संचालन के लिए अलग-अलग 14 समितियां बनाई गई हैं। इसमें 28 प्रमुख समेत 220 कार्यकर्ता लगे हुए हैं।

रास्तेभर में रंग-बिरंगी सजावट

मेहमानों के स्वागत के लिए मोहनखेड़ा तीर्थ से लेकर मोहनखेड़ा गेट तक आकर्षक सजावट की गई है। रास्ते के दोनों ओर पार्टी के राष्ट्रीय और प्रादेशिक नेताओं के कटआउट लगाए गए हैं। साथ ही दो दिनों से लगातार मार्ग की सफाई की जा रही है।

स्वच्छता को लेकर विशेष ध्यान

आयोजन को लेकर पूर्व में पार्टी के नेताओं द्वारा स्वच्छता को लेकर विशेष निर्देश दिए गए हैं। इसके चलते स्थानीय नेता व कार्यकर्ता बैठक में स्वच्छता को लेकर विशेष ध्यान दे रहे हैं। गुरुवार को आयोजन स्थल पर कुछ दूरी के बाद डस्टबिन रखे गए हैं। कार्यकर्ताओं में विशेष उत्साह भी देखा जा रहा है।

तीन जिलों से 300 से अधिक जवान तैनात

बैठक को लेकर गुरुवार शाम से झाबुआ, आलीराजपुर समेत धार जिले 300 से अधिक पुलिसकर्मी सुरक्षा व्यवस्था के मद्देनजर मोहनखेड़ा पहुंच चुके थे। शाम को एसपी वीरेंद्रसिंह ने मौका मुआयना किया था। साथ ही पुलिसकर्मी को अलग-अगल क्षेत्र में सुरक्षा की दृष्टि से तैनात किया गया। एसपी ने बताया कि 3 एडीशनल एसपी, 8 डीएसपी व 20 टीआई समेत अन्य पुलिसकर्मी सुरक्षा व्यवस्थाओं को संभालेंगे।

जलवायु परिवर्तन से लेकर प्रमुख तीन बिंदुओं की होगी समीक्षा

-सागर की कार्यसमिति की बैठक में कहा था जलवायु परिवर्तन से लड़ेगे

नमामी देवी नर्मदा अभियान के लक्ष्यों पर देंगे जोर

धार। नईदुनिया प्रतिनिधि

मोहनखेड़ा में भाजपा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक होने जा रही है। इस बैठक में पुरानी बातों को भी याद किया जाएगा। माना जा रहा है कि जनवरी माह में सागर में हुई प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में जिन तीन प्रमुख बिंदुओं पर काम करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था, उसको लेकर क्या स्थिति है यह भी पता पता किया जाएगा। सबसे अहम विषय जलवायु परिवर्तन और वैश्विक तपन रहेगा। भीषण गर्मी में भाजपा के प्रदेश पदाधिकारी भले ही हाल में अपने आप को गर्मी से परेशान महसूस नहीं करेंगे, लेकिन वहां पर वैश्विक तपन पर बातचीत के पुराने मुद्दे को याद रखना होगा।

गौरतलब है कि जनवरी माह में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सागर की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में आगामी 3 माह के लक्ष्य निर्धारित किए गए थे।

पहले लक्ष्य में आवास मिले

इन 3 लक्षणों में पहला लक्ष्य था प्रदेश सरकार द्वारा सभी को आवास दिया जाना। आवास के मामले में प्रधानमंत्री आवास योजना से लेकर अन्य आवास योजनाओं के क्रियान्वयन का जारी है। वहीं प्रदेश के सभी बधाों को उधा शिक्षा के लिए धन की कमी आड़े नहीं आने दी जाएगी। यह सबसे बड़ा लक्ष्य भी तय किया गया था।

फीस भरने की तैयारी दूसरी पहल

इस मामले में प्रदेश सरकार ने कई बार घोषणा की है कि कक्षा बारहवीं में 85 प्रतिशत अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थी यदि उधा शिक्षण संस्थान में जैसे इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी, इंडियन इंस्टिट्यूट ऑफ मैनेजमेंट संस्थानों में प्रवेश लेते हैं तो उन्हें उन संस्थान में पढ़ने के लिए फीस का भार नहीं आएगा। यह फीस प्रदेश सरकार भरेगी। माना जा रहा है कि इस मामले में आगामी दिनों में सरकार कुछ हद तक अमल करने की स्थिति में आ जाएगी।

तीसरा लक्ष्य : वैश्विक तापन पर अभी तक कुछ नहीं हुआ

मुख्यमंत्री ने भूमंडलीय तापक्रम वृद्घि और पर्यावरणीय परिवर्तन यानी ग्लोबल वार्मिंग और क्लाइमेट चेंज की चुनौतियों का सामना करने का भी लक्ष्य रखा था। कार्यसमिति के जो तीन लक्ष्य थे, उनमें से दो लक्षण के बारे में तो मैदानी स्तर पर काम हुआ है, लेकिन तीसरे लक्ष्य पर काम ही नहीं हो पाया है। प्रदेश सरकार अभी तक जलवायु परिवर्तन और वैश्विक तपन से कैसे लड़ेगी इसका कोई रोडमैप तैयार नहीं कर पाई है। माना जा रहा है कि सरकार मोहनखेड़ा की बैठक में इस पर चिंतन कर सकती है। भीषण गर्मी में मालवा क्षेत्र में बैठक होने जा रही है। जहां पर तापमान वर्तमान में करीब 42 डिग्री सेल्सियस के आसपास बना हुआ है। यहां आने वाले विशेष लोगों के लिए ऐसे इंतजाम किए हैं, जिसके चलते उन्हें गर्मी का एहसास नहीं होगा। कई स्थानों पर एसी लगाए गए हैं। इस तरह के वातावरण में जलवायु परिवर्तन पर चर्चा होना जरूरी है क्योंकि भविष्य के लिए जो लक्ष्य पिछली कार्यसमिति में तय किया गया था ,उस पर अभी तक कोई काम नहीं हुआ। ऐसे में जबकि पर्यावरण से जुड़े हुए डॉक्टर अनिल माधव दवे भी आ रहे हैं। वह केंद्रीय मंत्री की हैसियत से यहां पहुंच रहे हैं। माना जा रहा है कि इस बैठक में पर्यावरण संबंधी मुद्दे पर भी चर्चा हो सकती है, जिससे कि प्रदेश को एक नई दिशा मिल सकती है। इधर माना जा रहा है कि नमामि देवी नर्मदा का जिक्र होगा। इसमें इस अभियान के लक्ष्यों को कार्यकर्ताओं के माध्यम से जनता तक पहुुंचाने का लक्ष्य होगा।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.