अयोध्या में मंदिर नहीं बना तो भाजपा को नुकसान : महंत नृत्यगोपाल दासUpdated: Fri, 12 Jan 2018 06:36 AM (IST)

अगर मंदिर बनता है तो भाजपा फायदे में रहेगी और नहीं बनता है तो उसे नुकसान झेलना पड़ेगा।

भोपाल, नवदुनिया प्रतिनिधि। महर्षि महेश योगी के जन्म शताब्दी कार्यक्रम में शामिल होने श्रीराम एवं कृष्ण जन्मभूमि न्यास के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास महाराज तीन दिवसीय राजधानी प्रवास पर आए हुए हैं। अयोध्या में श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण को लेकर नवदुनिया ने उनसे बातचीत की तो उन्होंने कहा मोदी और योगी के काल में मंदिर निर्माण 2 से 4 महीने में शुरू हो जाएगा। अगर मंदिर बनता है तो भाजपा फायदे में रहेगी और नहीं बनता है तो उसे नुकसान झेलना पड़ेगा।

प्र.- अयोध्या में राम जन्मभूमि पर विवाद अभी तक जारी है?

उ.- विवाद का तो कोई सवाल ही नहीं उठता, बस कुछ वैधानिक अड़चनें हैं। केन्द्र एवं राज्य में बीजेपी की सरकार है। मंदिर नहीं बना तो भाजपा को नुकसान होगा।

प्र.- मंदिर निर्माण की शुरुआत कब होने की संभावना है?

उ.- 2- 4 महीने में मंदिर निर्माण शुरू हो जाएगा।

प्र.- बाबरी मस्जिद के मुस्लिम याचिकाकर्ता का निधन हो गया है। क्या इससे किसी प्रकार का केस पर फर्क पड़ेगा?

उ.- सिया मुसलमानों ने कभी भी मंदिर निर्माण का विरोध नहीं किया। विरोध केवल सुन्नाी मुसलमान कर रहे हैं।

प्र.- पुरात्तव विभाग को भी अयोध्या में मंदिर के अवशेष मिले हैं...?

उ. - रामजन्म भूमि पर मिले सभी चि- मंदिर के ही पक्ष में हैं। पुरातत्व विभाग ने भी पुष्टी कर दी है। पहले विवादित ढांचा ही केवल अड़चन था, अब तो वो भी नहीं रहा। अब केवल न्यायालय के कारण मंदिर निर्माण में देरी हो रही है।

प्र.- कृष्ण जन्म भूमि को लेकर क्या रणनीति है। क्या वहां भी रामजन्म भूमि की तर्ज पर ही कुछ करने का विचार है?

उ.- कृष्ण जन्म भूमि का मामला अलग है। वहां पर विवाद जैसी कोई बात नहीं है। क्योंकि मधुरा में भगवान श्रीकृष्ण के जन्म स्थल का परिसर अलग है, जहां पूजा पाठ होता है। जन्माष्ठमी पर अभिषेक भी होता है। जबकि मस्जिद का परिसर अलग है, जहां नमाज अदा होती है। अयोध्या में रामजन्म भूमि पर ढांचा बनाया गया था, यहां ऐसा नहीं है।

प्र. - आपके इतने सालों का अनुभव, अनुमान एवं ज्योतिष क्या कहता है? मंदिर निर्माण हो सकेगा?

उ.- ज्योतिष तो मैंने पढ़ा नहीं। लेकिन मोदी और योगी के काल में मंदिर निर्माण से जुड़ी सभी परेशानियां दूर हो जाएंगी। 2-4 महीने में काम शुरू हो जाएगा।

प्र.- जिस तरह की बातें चुनाव से पहले कही गईं थीं, क्या उन पर अमल हो रहा है?

उ.- अदालत का जो फैसला होगा मानेंगे...! ऐसा किसने और कब कहा नहीं मालूम। लेकिन इतना जरूर है कि अगर मंदिर बनाते हैं तो भाजपा को लाभ मिलेगा। मंदिर नहीं बनता है, तो भाजपा को नुकसान उठाना पड़ेगा।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.