भिंड में ट्रक और लोडिंग वाहन की टक्कर में चार लोगों की मौतUpdated: Thu, 11 Jan 2018 10:42 AM (IST)

ग्वालियर से मवेशी खरीदने लोडिंग से इटावा जा रहे व्यापारियों को सामने से डंपर ने टक्कर मार दी।

मेहगांव, नईदुनिया न्यूज। ग्वालियर से मवेशी खरीदने लोडिंग से इटावा जा रहे व्यापारियों को सामने से डंपर ने टक्कर मार दी। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि लोडिंग के परखच्चे उड़ गए। टक्कर के बाद डंपर खंती में पलट गया। लोडिंग में सवार तीन मवेशी व्यापारी और ड्राइवर की मौत हो गई। हादसा गुरुवार सुबह करीब 7 बजे नेशनल हाइवे-92 पर मेहगांव के बहुआ गांव के पास हुआ। हादसे के दौरान ड्राइवर का शव लोडिंग में फंसा रहा। पुलिस ने गैस कटर से लोडिंग गाड़ी को काटकर शव को बाहर निकाला। चारों मृतक ग्वालियर के रहने वाले हैं। पुलिस ने परिजन को सूचना की है।

रॉन्ग साइड से आया डंपर

ग्वालियर रायरू के पास मीलपुरा निवासी ड्राइवर राजवीर (23) पुत्र सरनाम यादव गुरुवार सुबह करीब 6 बजे लोडिंग गाड़ी क्रमांक एमपी 07 जीए 5106 से मवेशी व्यापारी नरेश पारिख (47) पुत्र लक्ष्मीनारायण पारिख निवासी गदाईपुरा ग्वालियर, मनोज चाहर (36) पुत्र पुष्पराज चाहर निवासी बिरला नगर ग्वालियर 11 नंबर लाइन और केदार सिंह (65) पुत्र लालू सिंह जादौन निवासी चंदनपुरा जेसी मील के सामने ग्वालियर को साथ लेकर इटावा मवेशी खरीदने के लिए रवाना हुए थे।

नेशनल हाइवे 92 पर मेहगांव के बहुआ गांव के पास सुबह 7 बजे मेहगांव से ग्वालियर जा रहे डंपर एमपी 30 एच 0577 के ड्राइवर ने रॉन्ग साइड से आकर सामने से लोडिंग में टक्कर मार दी। टक्कर के दौरान डंपर ड्राइवर और हेल्पर कूदकर भाग गए। टक्कर इतनी जबरदस्त थी कि लोडिंग के परखच्चे उड़ गए। डंपर खंती में जाकर पलट गया। हादसे में ड्राइवर राजवीर, व्यापारी नरेश पारिख, मनोज चाहर, केदार सिंह जादौन की मौके पर ही मौत हो गई।

डायल 100 पर मिली हादसे की सूचना

हादसे के बाद किसी राहगीर ने डायल 100 पर कॉल कर पुलिस को हादसे की सूचना दी। मेहगांव एसडीओपी विमल जैन, टीआई नरेंद्र त्रिपाठी और एसआई दीपक यादव पुलिस बल लेकर घटनास्थल पहुंचे। लोडिंग के परखच्चे उड़े हुए थे। लोडिंग की केबिन में चारों के शव फंसे थे। पुलिस ने नरेश पारिख, मनोज चाहर और केदार सिंह जादौन के शव निकलवाकर पीएम के लिए मेहगांव अस्पताल भिजवा दिए, लेकिन राजवीर का शव फंसा हुआ था।

पुलिस ने काफी मशक्कत की, लेकिन शव नहीं निकला तो मेहगांव से गैस कटर मंगवाया गया। कटर की मदद से लोडिंग को काटकर ड्राइवर के शव को सुबह 11 बजे निकाला गया। हादसे में एक साथ चार लोगों की मौत की खबर के बाद गोहद एसडीएम डॉ. यूनुस कुरैशी और मेहगांव एसडीएम अनिल बनवारिया मौके पर पहुंचे थे।

मृतकों की जेब से मिली रकम

हादसे में मृत नरेश पारिख की जेब से 67 हजार रुपए मिले हैं, जबकि मनोज चाहर की जेब से 65 हजार 235, केदार जादौन की जेब से 54 हजार 50 रुपए मिले हैं। पुलिस ने इन रुपयों को थाने में जमा कराया है। बाद में इन्हें परिजन के सुपुर्द कर दिया जाएगा।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.