पुष्य नक्षत्र में खरीदारी के लिए ये है शुभ मुहूर्तUpdated: Thu, 12 Oct 2017 10:14 AM (IST)

पुष्य नक्षत्र में लोग इलेक्ट्रॉनिक आइटम व नए वाहन भी खरीद सकते हैं।

रायपुर । शुक्रवार से शुक्र पुष्य नक्षत्र के साथ खरीदारी का महाकुंभ शुरू होने वाला है। अर्से बाद ऐसा पहली दफा होगा कि खरीदारी का यह महानक्षत्र सुबह से शुरू होकर अगले दिन सुबह तक रहेगा। यानी खरीदारी के लिए चौबीस घंटों का शुभ समय रहेगा।

सराफा में महानक्षत्र को लेकर जबरदस्त उत्साह है। दुकानें सज गई हैं। वहीं उपभोक्ताओं की सुविधा के लिए सोने-चांदी, डायमंड तथा सिक्कों और गिफ्ट आइटम के लिए अलग-अलग कर्मचारी लगा दिए गए है। डिस्प्ले में भी नई डिजाइनर ज्वेलरी पर फोकस किया जा रहा है। डिजाइनर चूड़ी, कंगन, नेकलेस, मंगलसूत्र व ऐतिहासिक फिल्मों में इस्तेमाल किए गए आभूषण भी मिलेंगे।

सराफा विशेषज्ञों का कहना है कि इस बार पुष्य नक्षत्र में अकेले सराफा में 100 करोड़ का कारोबार होने की उम्मीद है। कारोबारी दीपचंद कोटड़िया का कहना है कि इन दिनों त्योहारी खरीदारी के साथ ही अगले महीने शुरू होने वाली शादी सीजन की भी खरीदारी शुरू हो गई है।

शुभ दिनों के लिए बुकिंग की जा रही है। वहीं कई उपभोक्ता निवेश में भी रुचि दिखा रहे हैं। ऐसे में इस बार कारोबार तेज रहने की संभावना है।

शुभ मुहूर्त

पुष्य नक्षत्र

- शुक्रवार सुबह 7.45 से लेकर शनिवार सुबह 6.40 बजे तक

- ज्वेलरी के साथ कार-बाइक और प्रॉपर्टी बेहतर

धनतेरस

- सुबह 7.45 बजे से लेकर देर रात तक

- ज्वेलरी, कार-बाइक, प्रॉपर्टी, कपड़े, मोबाइल, बर्तन खरीदी के लिए बेहतर। बाकी दिनों भी खरीदारी के अच्छे मुहूर्त हैं।

पुष्य नक्षत्र में ये चीजें खरीदें

ज्योतिषी डॉ.दत्तात्रेय होस्केरे के अनुसार शुक्र पुष्य नक्षत्र के संयोग में और धनतेरस पर वैसे तो हर चीज की खरीदी शुभ होगी, लेकिन 13 अक्टूबर (शुक्रवार के दिन) होने से यह सौंदर्य एवं सजावट की चीजों की खरीदारी के लिए खास माना जा रहा है। नौ ग्रहों में शुक्र को सौंदर्य से जोड़कर देखा जाता है। इसमें घर, दुकान की सजावट के लिए जैसे डायनिंग टेबल, डबल बेड पलंग, ड्रेसिंग टेबल, चादर, परदे, आर्टिफिशियल एवं सोने-चांदी की ज्वेलरी, बर्तन व नए कपड़े आदि की खरीदी की जा सकती है। पुष्य नक्षत्र में लोग इलेक्ट्रॉनिक आइटम व नए वाहन भी खरीद सकते हैं।

किस लग्न में क्या खरीदें

- वृश्चिक लग्न में देव प्रतिमा, हीरा, स्वर्ण व किचन आइटम

- कुंभ लग्न में हीरा, सोना, मशीन

- वृषभ लग्न में स्वर्ण, रजत आभूषण, इलेक्ट्रॉनिक्स, भूमि-भवन बुकिंग

चौघड़िया अनुसार

- चर में स्वर्ण, रत्न, हीरा, देव प्रतिमा, भूमि-भवन

- लाभ में पानी घड़ा, फर्नीचर, बच्चों की अध्ययन सामग्री आदि।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.