अश्लील सीडी केस : सीबीआई जांच के लिए SIT सबूत जुटाएगीUpdated: Thu, 16 Nov 2017 02:37 PM (IST)

सेशन कोर्ट में जमानत याचिका खारिज होने के बाद विनोद वर्मा के वकीलों ने जमानत अर्जी हाईकोर्ट में लगाई है।

रायपुर । छत्तीसगढ़ के कथित अश्लील सीडी कांड मामले की जांच सीबीआई करेगी। राज्य सरकार ने पूरे मामले की जांच सीबीआई से कराने की अनुशंसा केंद्र को भेजी थी, जिसे मंजूरी दे दी गई है। केंद्र सरकार ने इसका नोटिफिकेशन जारी कर दिया है।

राज्य सरकार को इसकी सूचना दे दी गई है। बताया जा रहा है कि सीबीआई ने दिल्ली में जांच शुरू भी कर दी है। जल्द ही सीबीआई की टीम छत्तीसगढ़ में भी जांच को आगे बढ़ाएगी।

हालांकि सीबीआई के छत्तीसगढ़ आकर जांच करने से पहले पूरे मामले की जांच के लिए राज्य पुलिस द्वारा गठित एसआईटी को साक्ष्य इकट्ठा करने की जिम्मेदारी दी गई है। एसआईटी के साक्ष्य के आधार पर ही सीबीआई मामले की जांच करेगी। घटना के अध्ययन के लिए सीबीआई ने छत्तीसगढ़ पुलिस से पूरे मामले की केस डायरी भी मांग ली है।

मंत्री राजेश मूणत के सीडी मामले में अब तक दो एफआईआर दर्ज किए गए हैं। पहली एफआईआर पंडरी थाने में भाजपा नेता प्रकाश बजाज ने दर्ज कराई थी। बजाज ने अपनी शिकायत में कहा था कि अज्ञात व्यक्ति कथित सीडी के बहाने ब्लैकमेल कर रहा है।

बजाज की शिकायत के आधार पर ही छत्तीसगढ़ पुलिस ने मामले की विवेचना शुरू करते हुए गाजियाबाद से वरिष्ठ पत्रकार विनोद वर्मा को हिरासत में लिया था।

पत्रकार को हिरासत में लिए जाने के बाद देशभर में मचे बवाल के बाद मंत्री राजेश मूणत ने आईटी एक्ट के तहत सिविल लाइन थाने में भी विनोद वर्मा और भूपेश बघेल के खिलाफ आईटी एक्ट के तहत अपराध दर्ज कराया था। बघेल पर यह आरोप लगाया गया कि उन्होंने अपने घर से सीडी का वितरण किया है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए रमन कैबिनेट ने केंद्र सरकार को सीबीआई जांच की अनुशंसा भेजी थी। सीडी मामले में गिरफ्तार किए गए विनोद वर्मा इस वक्त रायपुर सेंट्रल जेल में न्यायिक हिरासत में है। हालांकि उन्होंने जमानत याचिका लगाई थी, जिसे खारिज कर दिया गया। सेशन कोर्ट में जमानत याचिका खारिज होने के बाद विनोद वर्मा के वकीलों ने जमानत अर्जी हाईकोर्ट में लगाई है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.