नर्स के भरोसे चल रहा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोइंगUpdated: Wed, 06 Dec 2017 04:01 AM (IST)

रायगढ़ पूर्वी अंचल का एक मात्र सुसज्जित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोइंग जहां ब्लाक मेडिकल अफिसर रहते हैं।

रायगढ़। रायगढ़ पूर्वी अंचल का एक मात्र सुसज्जित सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लोइंग जहां ब्लाक मेडिकल अफिसर रहते हैं। वहां डाक्टरों के लाले पड़े है। स्वास्थ्य सम्बन्धी सभी व्यवस्था के बाद भी एक भी डाक्टर मुख्यालय में नही रहते जबकि डाक्टरर्स कालोनी उन्हें आबंटित है। छुट्टी दिवस अथवा रात्रि कालीन सेवाएं भी यहां चौपट है।

पिछले दिनो जब संवाददाता ने लोइंग सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र का जायजा लिया तो वहां देखकर हैरान रह गया। एक मात्र नर्स और वार्ड ब्वाय के भरोसे 10 डाक्टर्स और ब्लाक मेडिकल आफिसर वाले इस अस्पताल में सिर्फ नर्स एआर टोप्पो और वार्ड ब्वाय राजेंद्र राठिया ही अस्पताल का सम्पूर्ण संचालन कर रहे थे।

पहली डिलेवरी वाले 2 महिलाएं में एक डिलेवरी हुई थी जबकि एक को प्रसव पीड़ा आने के इंतजार में भर्ती किया जाना था। फूलकुमारी पटेल पति दयानिधि निवासी छुहिपाली की डिलिवरी के बाद उसके इलाज चल रहा था वही धरमेपुर कुकुरदा निवासी सुशीला पति चंद्रकांत सिदार को जचकी के लिये भर्ती किया जाना था।

कुकुरदा उपस्वास्थ्य केंद्र की एएनएम पी रेड्डी ने यह कह कर भर्ती के लिए लोइंग अस्पताल लाया कि यहां डाक्टरर्स के देख रेख में प्रसव हो किन्तु यहाँ तो आकस्मिक डाक्टर वंदना पटेल ही अनुपस्थिति थी । 8 से 2 बजे तक कि ड्यूटी चार्ट में डक्टर वंदना पटेल के नाम तो अंकित है लेकिन वह नदारद थी।

नर्स टोप्पो ने बताया कि डाक्टर वंदना पटेल की ड्यूटी तो है वो नही है। उनकी आवश्यकता भी नही है डिलीवरी हम ही करा लेते है, जरूरत हो तो फोन से सलाह लेते हैं । डिलीवरी के लिये लाये सुशीला के पति चंद्रकांत सिदार ने बताया कि उसके गांव के एएनएम ने यहां जचकी के लिए लाया है यहाँ तो डक्टर ही नही है, यदि जचकी में परेशानी आई तो रायगढ़ अस्पताल ले जायेंगे ।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.