नए टर्मिनल से अब छत्तीसगढ़ को सीधे मिलेगा पेट्रोलियम पदार्थUpdated: Wed, 29 Nov 2017 12:48 PM (IST)

पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि भारत सरकार का पेट्रोलियम कनेक्टिविटी पर फोकस है।

कोरबा । पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि भारत सरकार का पेट्रोलियम कनेक्टिविटी पर फोकस है। रोड, रेल और हवाई के बाद पाइप लाइन से तीन राज्य ओडिशा, झारखंड एवं छत्तीसगढ़ को कनेक्ट कर दिया गया है। इस परियोजना से पांच राज्यों के लिए 20 दिन का ईंधन स्टोर किया जा सकेगा।

पूर्वोदय क्षेत्र से शुरू हो रही यह पेट्रोलियम कनेक्टिविटी देश के लिए एक ऐतिहासिक दिन है। छत्तीसगढ़ खनिज संपदा से संपन्न् प्रगतिशील राज्य है। इसके चहुंमुखी विकास के लिए केंद्र और पेट्रोलियम मंत्रालय तैयार है।

इंडियन ऑयल कार्पोरेशन लिमिटेड के रायपुर और कोरबा टर्मिनल उद्घाटन व एलपीजी बॉटलिंग प्लांट का शिलान्यास समारोह को श्री प्रधान संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम में प्रदेश के मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह प्रमुख रूप से उपस्थित थे।

श्री प्रधान ने कहा कि 55600 किलोलीटर भंडारण क्षमता वाले इस टर्मिनल से छत्तीसगढ़ को समुचित लाभ मिलेगा। बिना स्र्कावट पेट्रोलियम पदार्थ राज्य में पहुंचेगा। 2800 करोड़ का निवेश कर पारादीप से रायपुर-रांची पाइप लाइन एवं झारसुगड़ा, संवर्धित जटनी, खुंटी, रायपुर, गोपालपुर तक पाइप लाइन बिछाई गई है।

1000 किलोमीटर पाइप लाइन से पेट्रोलियम आएगी। इससे ट्रांसपोर्टिंग शुल्क में भी कमी आएगी। ट्रक से परिवहन पर 4 रुपए का खर्च आता था, जो घट कर एक रुपए हो जाएगा। कोरबा टर्मिनल से बिलासपुर व अंबिकापुर संभाग के 10 जिले व रायपुर टर्मिनल से शेष जिलों के पेट्रोल पंप में ऑयल की आपूर्ति होगी। इस कनेक्टिविटी के बाद चाहे आंधी आए या तूफान या फिर थम जाए ट्रकाें के पहिए, फिर भी किसी सूरत में पेट्रोलियम की आपूर्ति बाधित नहीं होगी।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दो वर्ष पहले पारादीप में रिफाइनरी की शुस्र्आत की और यह योजना अब मूर्तरूप लेने लगी है। कांग्रेस को आड़े हाथ लेते हुए श्री प्रधान ने कहा कि 70 साल तक राज करने के बाद भी गरीबों की चिंता नहीं की। टर्मिनल और एलपीजी बॉटलिंग से सुविधाओं में तो विस्तार होगा, साथ ही रोजगार के अवसर भी मिलेंगे। समारोह में नगरीय निकाय मंत्री अमर अग्रवाल, सांसद डॉ. बंशीलाल महतो प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।

अटल की परिकल्पना को मोदी ने किया साकार : डॉ. रमन

मौके पर मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि पारादीप रिफाइनरी की परिकल्पना पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने की थी और उसे साकार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। छत्तीसगढ़ में 35 लाख हितग्राहियों को गैस सिलेंडर व चूल्हा बांटा जाना है। बॉटलिंग प्लांट से कोरबा समेत छह जिलों को लाभ मिलेगा। इससे उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों की आपूर्ति आसान होगी।

50 नए एलपीजी वितरक की घोषणा

पेट्रोलियम मंत्री श्री प्रधान ने कहा कि 60 मीट्रिक टन प्रतिवर्ष क्षमता वाला एलपीजी बॉटलिंग प्लांट आने वाले दो साल के अंदर बन कर तैयार हो जाएगा। उज्ज्वला योजना के हितग्राहियों को रिफलिंग में कोई परेशानी न उठानी पडे, इसलिए इस प्लांट का निर्माण किया जा रहा है। अभी राज्य में 425 गैस वितरक की संख्या बढ़ाकर 475 किया जाएगा। जल्द ही 50 नए वितरक भी नियुक्त किए जाएंगे।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.