शिक्षाकर्मी हड़ताल : गांव की बहू-बेटियां पढ़ाने स्कूल पहुंचीUpdated: Fri, 01 Dec 2017 10:02 PM (IST)

शिक्षक पंचायत संवर्ग द्वारा अपनी मांगों को लेकर 20 नवंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये हैं।

मगरलोड। शिक्षक पंचायत संवर्ग द्वारा अपनी मांगों को लेकर 20 नवंबर से अनिश्चितकालीन हड़ताल पर चले गये हैं। इससे अरौद के प्राथमिक व माध्यमिक स्कूलों में अध्यापन व्यवस्था का बुरा हाल है। स्कूल में अव्यवस्था को देखते हुए गांव के जागरुक नागरिक, बहू, बेटियां खुद होकर शिक्षा बांटने सामने आ रही है। साथ कई जनप्रतिनिधि भी स्कूल पहुंच बच्चों को पढ़ा रहे हैं।

प्राथमिक व माध्यमिक विद्यालय के शाला प्रबंधन एवं विकास समिति के पदाधिकारियों ने गांव की पढ़ी लिखी बेटियों एवं बहुओं को नियुक्त कर अध्यापन कार्य को पूरा करने का प्रयास कर रहे है। प्राथमिक विद्यालय में 27 बालक व 27 बालिका व माध्यमिक विद्यालय में 34 बालक व 28 बालिकाएं अध्ययनरत है।

प्राथमिक शाला के प्रबंधन एवं विकास समिति के अध्यक्ष रिखीराम साहू, उपाध्यक्ष रोहणी साहू तथा माध्यमिक शाला के शाला प्रबंधन एवं विकास समिति अध्यक्ष रमेश साहू, उपाध्यक्ष प्रेमलाल साहू ने बताया कि शिक्षक पंचायत संवर्ग द्वारा अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की वजह से स्कूल में शिक्षा व्यवस्था ठप हो गई है।

शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने वैकल्पिक तौर पर गांव की पेमीन साहू, यामिनी साहू, मोना साहू, डिगेश्वरी साहू, प्रियंका साहू, पिंकी साहू, उमेश साहू, एवन साहू नियुक्त किया गया है। जिनके द्वारा छात्र-छात्राओं को विभिन्न विषयों का अध्यापन कराया जा रहा है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.