कचरे में आग लगाने की ऑनलाइन शिकायत, सफाई ठेकेदार पर 10 हजार जुर्मानाUpdated: Thu, 07 Dec 2017 07:35 PM (IST)

निगम की टीम ने मौके पर पहुंचकर सफाई ठेकेदार रेखा वर्मा पर 10 हजार स्र्पए का जुर्माना लगाया गया।

बिलासपुर। कचरे में आग लगाने की स्वच्छता एप के जरिए गुरुवार को शिकायत मिलने पर निगम की टीम ने मौके पर पहुंचकर सफाई ठेकेदार रेखा वर्मा पर 10 हजार स्र्पए का जुर्माना लगाया गया। इस दौरान नियमित कचरा नहीं उठने की शिकायत भी मिली।

निगम एक ओर स्वच्छता रैंकिंग में अच्छा नंबर पाने पूरा जोर लगा रहा है, तो वहीं निगम के सफाई ठेकेदार प्रयासों पर पानी फेर रहे हैं। शिकायतकर्ता ने कचरे में आग लगाती एक महिला की फोटो इस एप में अपलोड कर दिया। शिकायत जैसे ही निगम अधिकारियों तक पहुंची उन्होंने अपने स्टॉफ को भेजकर शिकायत की पुष्टि कराई।

इस पर सफाई ठेकेदार को दोषी मानते हुए जुर्माना लगाया गया। इसके अलावा ठेकेदार के पूरे क्षेत्र का अमले को भेजकर निरीक्षण कराया गया। तब कई जगह कचरे के ढेर मिले। नालियां भी जाम थीं। लोगों ने बताया कि सफाई कर्मचारी रोज कचरा नहीं उठाते। इस पर ठेकेदार को चेतावनी भी दी गई कि उसका ठेका निरस्त कर दिया जाएगा। उसे नियमित कचरा उठाने के निर्देश दिया गया।

यहां यह बताना लाजमी है कि शहर में सॉलिड वेस्ट मैनेजमेंट का ठेकेदार घर-घर से कचरा उठा रहा है। इसके अलावा सड़क, नालियों, नुक्कड़ों की सफाई के लिए निगम ने अलग ठेकेदार रखा हुआ है। निगम के स्थानीय ठेकेदारों की लापरवाही को लेकर अब शिकायतें आनी शुरू हो गई है।

रैंकिंग में पिछड़ने के प्रमुख जिम्मेदार हैं ठेकेदार

नगर निगम इस बार स्वच्छता रैंकिंग में 8 वें नंबर पर है। जबकि पिछले सर्वेक्षण में शहर का नंबर 3 पर था। इस तरह स्वच्छता रैंकिंग में पीछे जाने का एक बड़ा कारण शहर के स्थानीय सफाई ठेकेदार माने जा रहे हैं।

इनका कहना है

गंदगी की शिकायत हमें एप के जरिए मिली थी। जांच में सफाई ठेकेदार की लापरवाही सामने आने पर ठेकेदार पर 10 हजार स्र्पए का जुर्माना लगाया गया है।

सौमिल रंजन चौबे आयुक्त, नगर निगम

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.