अब चंद मिनट में मिलने लगेगा लर्निंग लाइसेंसUpdated: Mon, 04 Dec 2017 09:42 AM (IST)

इस केन्द्र के खुलने से लोगों को चंद मिनटों में लर्निंग लाइसेंस बनकर मिल जाएगा।

दुर्ग। राजधानी में खुले जनसुविधा केंद्र अब दुर्ग एआरटीओ दफ्तर में भी खुलेगा। इस केन्द्र के खुलने से लोगों को चंद मिनटों में लर्निंग लाइसेंस बनकर मिल जाएगा। राजधानी में हाल ही में जनसुविधा केंद्र शुरू की गई है।

दुर्ग जिले के लोगों के लिए यह सुविधा जल्द ही शुरू होने वाली है। यह सुविधा केन्द्र एआरटीओ दफ्तर में रहेगा और इसकी तैयारी के निर्देश दिए गए हैं। सूत्रों के मुताबिक जनसुविधा केन्द्र करीब 20 लाख रुपए की लागत से बनाया जाएगा। केन्द्र कारपोरेट कल्चरल की तरह डेवलप रहेगा। यहां आने वाले लोग पूरे आराम व सुविधा के साथ अपना काम करवा सकेंगे। स्मार्ट चिप कंपनी और आरटीओ विभाग के द्वारा यह केन्द्र शुरू होगा।

वेटिंग लॉंज होगा बेहतरीन

जनसुविधा केन्द्र में लोगों को लाइन लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। फार्म जमा करने के बाद उनके इंतजार करने के लिए एक अलग जगह होगी। जहां बेहतरीन सोफे होंगे। एसीयुक्त जगह होगी। इसके अलावा उनका लाइसेंस बनने की सूचना बैठे-बैठे ही मिल जाएगी। अभी लोग लंबी लाइन लगाकर खड़े होते हैं और इसकी वजह से वे थक जाते हैं।

जनसुविधा केन्द्र में होंगे पांच काउंटर

जनसुविधा केन्द्र में पांच काउंटर होंगे। इस काउंटर में एक फार्म जमा करने के लिए, दूसरा उस फार्म को प्रोसिंस करेगा। तीसरे काउंटर में फिजिकल टेस्ट होंगे। चौथे काउंटर में फोटो खीचें जाएंगे। पांचवे काउंटर से लाइसेंस बनकर वितरण होगा। वर्तमान में दो काउंटर पर ही ये सभी कार्य हो रहे हैं।

रोजाना बन रहे 30-35 लाइसेंस

जनसुविधा केन्द्र में 20 मिनट में लर्निंग लाइसेंस बनाकर दिया जाएगा। वर्तमान में काउंटर कम होने और दो कर्मचारियों द्वारा इस काम को करने की वजह से लर्निंग लाइसेंस करीब एक घंटे में बनकर मिल रहा है। यहां रोजाना 30 से 35 लर्निंग लाइसेंस बनते है। पांच काउंटर में कुल 10 कर्मचारी काम करेंगे।

- जनसुविधा केन्द्र 26 जनवरी तक शुरू करने की तैयारी है। यह केन्द्र अत्याधुनिक सुविधाओं से लैस होगा। लर्निंग लाइसेंस कुछ ही समय में लोगों को मिल जाएगा। इससे आम लोगों को राहत होगी। - श्रीकांत वर्मा एआरटीओ अधिकारी, दुर्ग

7 सवाल : छत्तीसगढ़ को कितना जानते हैं आप

धान का कटोरा माने जाने वाले छत्तीसगढ़ को लेकर दीजिए इन सवालों के जवाब

छत्तीसगढ़ की राजधानी कौन-सी है?

रायपुर

,

बिलासपुर

,

भिलाई

,

छत्तीसगढ़ के पहले मुख्यमंत्री का नाम क्या है?

रमन सिंह

,

अजीत जोगी

,

महेंद्र कर्मा

,

पौराणिक मान्यताओं के अनुसार किस भगवान को छत्तीसगढ़ का भांजा माना जाता है?

श्रीराम

,

भगवान कृष्ण

,

भगवान गणेश

,

Option

,

किस राज्य से अलग होकर छत्तीसगढ़ बना था?

उत्तरप्रदेश

,

बिहार

,

मध्यप्रदेश

,

छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री रमन सिंह के बेटे और बहू का नाम क्या है?

अभिषेक व ऐश्वर्या

,

अजय व काजोल

,

सचिन व अंजलि

,

नक्सलियों के खिलाफ 'सलवा जुडूम' आंदोलन की शुरुआत किस नेता ने की थी?

नंदकुमार पटेल

,

विद्याचरण शुक्ल

,

महेंद्र कर्मा

,

ऐतिहासिक ढोलकाल गणेश मूर्ति छत्तीसगढ़ के किस जिले में स्थित है?

दंतेवाड़ा

,

अंबिकापुर

,

बालोद बाजार

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.