कार्ड से शॉपिंग करने पर मिलेगा ये फायदा, RBI ने कम किया एमडीआरUpdated: Mon, 11 Dec 2017 09:42 AM (IST)

नए चार्ज के तहत एक हजार रुपए से कम की लेनदेन पर 2.50 रुपए, एक से दो हजार के लेन-देन पर पांच रुपए चार्ज लगेगा।

नई दिल्ली। डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने मर्चेंट डिस्काउंट रेट यानी एमडीआर को लेकर देश के व्यापारियों को बड़ी राहत दी है। आरबीआई ने मॉनीटरी पॉलिसी रिव्यू पर बताया कि इससे डिजिटल पेमेंट को बूस्ट मिलेगा। सीधी भाषा में कहें, तो अगर आप कार्ड से शॉपिंग करते हैं, तो आपके लिए अच्छी खबर हैं।

डेबिट और क्रेडिट कार्ड से शॉपिंग करना अब सस्ता हो जाएगा। नए चार्ज के तहत एक हजार रुपए से कम की लेनदेन पर 2.50 रुपए, एक से दो हजार के लेन-देन पर पांच रुपए और दो हजार से अधिक के लेन-देन पर नौ रुपए चार्ज लगेगा। एमडीआर शुल्क कम होने से आप जब भी डेबिट कार्ड से लेन-देन करेंगे, तो आपको उसमें अतिरिक्त शुल्क न के बराबर देना होगा।

RBI ने कहा कि एमडीआर में बदलाव करने का उद्देश्य डेबिट कार्ड्स के इस्तेमाल को बढ़ावा देना और इससे जुड़ी इकाइयों के लिए बिजनेस की सस्टेनेबिलिटी सुनिश्चित करना है। आरबीआई ने एमडीआर वसूलने के लिए व्यापारियों को दो श्रेणियों में रखा है। जिन व्यापारियों का लेन-देन 20 लाख प्रतिवर्ष से अधिक है, उन्हें बड़े व्यापारियों की श्रेणियों में रखा गया है, वहीं जिन व्यापारियों लेन-देन 20 लाख से कम है, वो छोटे व्यापारियों की श्रेणी में आएंगे।

यह होता है एमडीआर

जब भी कोई बैंक किसी व्यापारी से कार्ड पेमेंट सेवा के लिए चार्ज लेता है तो उसे मर्चेंट डिस्काउंट रेट कहते हैं। ज्यादातर व्यापारी एमडीआर फीस का भार ग्राहकों पर डालते हैं। इस समय देश में बैंक मर्चेंट से हर ट्रांजेक्शन पर 1.50 से लेकर 1.75 फीसदी तक वसूलता है। अगर, आरबीआई मर्चेंट डिस्काउंट देता है, तो इसका फायदा सीधा आम लोगों को मिलेगा।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.