सू की से दो विभाग वापस लिए गएUpdated: Mon, 04 Apr 2016 05:34 PM (IST)

सू की सरकारी हैसियत पर सेना द्वारा असहमति जताने के बाद अब वहां के राष्ट्रपति ने सू की के कद को कम करने का प्रस्ताव पेश किया है।

ने पी ता। म्यांमार की सर्वोच्च नेता आंग सान सू की सरकारी हैसियत पर सेना द्वारा असहमति जताने के बाद अब वहां के राष्ट्रपति ने सू की के कद को कम करने का प्रस्ताव पेश किया है।

राष्ट्रपति यू तिन क्या ने सोमवार को संसद में पेश प्रस्ताव में सू की के चार पदों में से दो को हटाए जाने की बात कही है। राष्ट्रपति के प्रस्ताव के अनुसार यू म्यो थेन ग्यी को नया शिक्षा मंत्री जबकि यू पे जिन तुन को ऊर्जा मंत्री बनाया जाएगा। पहले ये दोनों विभाग सू की के पास थे। संसद की मंजूरी मिलने के बाद नई व्यवस्था लागू हो जाएगी। इसके बाद सू की के पास विदेश और राष्ट्रपति कार्यालय की व्यवस्थाओं से संबंधित विभाग रह जाएंगे।

इसके अतिरिक्त राष्ट्रपति ने प्रशासनिक व्यवस्था से जुड़े आधा दर्जन पदों पर भी नियुक्ति का प्रस्ताव संसद में पेश किया है। उल्लेखनीय है कि सू की म्यांमार के संवैधानिक प्रावधानों के चलते राष्ट्रपति नहीं बन पाई हैं। इन प्रावधानों के अनुसार उम्मीदवार को शत प्रतिशत म्यांमार का नागरिक होना चाहिए। लेकिन सू की के पति ब्रिटिश नागरिक थे और उनके बेटे भी ब्रिटिश नागरिक हैं।

इस लिहाज से सू की शत प्रतिशत म्यांमार की नागरिक नहीं हुईं। इसी के चलते वह देश की सर्वोच्च नेता होने और चुनाव जीतने के बावजूद राष्ट्रपति नहीं बन पाईं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.