मलेशिया में बोले पीएम मोदी, 'भारत राज्‍यों में नहीं आप में बसता है'Updated: Sun, 22 Nov 2015 10:21 AM (IST)

भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सीमाओं में नहीं बंधा है।

नई दिल्ली। मलेशिया दौरे पर पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी रविवार दोपहर भारतीय समुदाय के लोगों से मिलने एमआईईसीसी सेंटर पहुंचे। मोदी के यहां पहुंचते ही पूरा हॉल मोदी-मोदी के नारों से गूंज उठा। भारतीय समुदाय को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत सीमाओं में नहीं बंधा है, यह दुनिया में रहने वाले हर भारतीय और आप में भी है।

पीएम ने आगे कहा कि तमिल लोगों का भारत के विकास में महत्‍वपूर्ण योगदान है। दूरियों और वक्‍त की वजह से कभी भी भारत के प्रति आपके प्‍यार में कोई कमी नहीं आई। मलेशिया में रह रहे भारतीयों का प्‍यार हमेशा मेरे दिल के करीब रहा है।

पीएम मोदी के स्वागत के लिए मलेशिया के करीब 90 सांस्कृतिक और सामुदायिक संगठनों ने प्रस्‍तुतियां दी।इनमें प्रवासी भारतीय भी शामिल हैं। मलेशिया इंटरनेशनल एग्जिबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर में मोदी को सुनने के लिए हजारों लोगों के पहुंचे हैं।

विश्व में तेजी से बढ़ते आतंकवाद पर मोदी ने कहा कि हमें आतंक को धर्म से जोड़ने की कोशिशों को नाकाम करना होगा। किसी भी देश को आतंकवाद का इस्तेमाल या उसे बढ़ावा नहीं देना चाहिए। जब मैं यह कहता हूं कि दुनिया को आतंक के खिलाफ एक साथ आना चाहिए तो मेरा मतलब सिर्फ सैन्य सहायता से ही नहीं है, बल्कि यह भी है कि कोई देश आतंकवाद का इस्तेमाल न करे या उसे बढ़ावा न दे। हमें यह तय करना पड़ेगा कि इंटरनेट आतंकियों की भर्ती का जरिया न बने। आज दुनिया को मिलकर आतंकवाद के खिलाफ लड़ना होगा।

इससे पहले पीएम मोदी ने नमस्कार कहकर सभी का अभिवादन किया। पीएम ने कहा कि समय और दूरी ने भारत से आपके प्यार को कम नहीं किया। भारत के विकास के मार्ग में तमिलों का बहुत बड़ा योगदान है। उन्होंने कहा कि गांधीजी कभी मलेशिया नहीं गए लेकिन यहां के लोगों के दिल को छूआ। पीएम ने कहा कि मलेशिया में नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर बनेगा सांस्कृतिक केंद्र। उन्होंने कहा कि भारत 1.25 अरब लोगों का एक लोकतांत्रिक राष्ट है। भारत एक युवा देश है, जो हर किसी को संविधान की गारंटी देता है, लोगों को समान अधिकार है। उन्होंने कहा हमारे पास कई उपलब्धियां हैं, हमारे वैज्ञानिक अंतरिक्ष की शक्ति का दोहन कर लोगों के जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने का कार्य कर रहे हैं।

पीएम मोदी के स्वागत के लिए मलेशिया के करीब 90 सांस्कृतिक और सामुदायिक संगठनों ने तैयारी की है, जिसमें प्रवासी भारतीय भी शामिल हैं। मलेशिया इंटरनेशनल एग्जिबिशन एंड कन्वेंशन सेंटर ने इस कार्यक्रम में हजारों लोगों के पहुचंने की उम्मीद जताई है।

वेलकम पार्टनर्स चेयरमैन तान श्री किशु तिराथरई का कहना है कि पीएम मोदी का यह पहला मलेशिया दौरा है और यहां का भारतीय समुदाय दुनिया के सबसे बड़े लोकतंत्र के प्रधानमंत्री के दौरे को यादगार बनाना चाहता है। बता दें कि प्रधानमंत्री आसियान और पूर्वी एशिया समिट के लिए कुआलालंपुर में हैं और यह समिट 27 नवंबर तक चलेगा।

किशु ने आगे कहा, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की इस यात्रा से भारत और मलेशिया के पहले से ही मजबूत रिश्तों को और मजबूती मिलेगी। उन्होंने कहा, 'मलेशिया सरकार की ओर से आयोजित कई अन्य कार्यक्रम भारत और मलेशिया दोनों देशों के उद्योगपतियों को दोनों देशों में निवेश का अच्छा अवसर देंगे। सोमवार शाम मोदी सिंगापुर के लिए रवाना हो जाएंगे।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.