'लुक ईस्‍ट पॉलिसी' हो 'एक्‍ट ईस्‍ट पॉलिसी'Updated: Wed, 12 Nov 2014 01:37 PM (IST)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को 12वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि इसका हिस्‍सा बनना खुशी की बात है।

नाए प्यीडॉ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी बुधवार को 12वें आसियान-भारत शिखर सम्मेलन को संबोधित करते हुए कहा कि इस सम्‍मेलन का हिस्‍सा बनना उनके लिए खुशी की बात है। म्‍यांमार हमारा एक महत्‍वपूर्ण पड़ोसी देश है। भारत का इतिहास बताता है कि यह किस प्रकार से हमसे जुड़ा हुआ रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आसियान देशों को मिलकर एक नई ऊंचाईयों को छूना है। 'लुक ईस्‍ट पॉलिसी' को 'एक्‍ट ईस्‍ट पॉलिसी' बनाना है। मैं एक नई सरकार का प्रतिनिधित्‍व कर रहा हूं लेकिन मेरा ध्‍यान हमेशा से ईस्‍ट एशिया की ओर रहा है। हमारे सभी देशों के साथ द्विपक्षीय संबंध अच्‍छे है और इस लिए आसियान देश हमारे लिए बहुत महत्‍वपूर्ण है।

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने मंगलवार को म्‍यांमार के राष्‍ट्रपति यू थेन सेन से मुलाकात कर सांस्‍कृतिक, वाणिज्यिक और दोनों देशों के बीच संपर्क बढ़ाने पर जोर दिया था। नाए प्यीडॉ ने राष्ट्रपति भवन में म्यामांर के राष्ट्रपति थेन सेन से बहुत अच्छे माहौल में हुई बातचीत की। उसके बाद मोदी ने ट्वीट किया, उनके बीच द्विपक्षीय संबंधों के विभिन्न पहलुओं पर गहन चर्चा हुई है। हमने संस्कृति, व्यापार और आपसी संपर्क बढ़ाने पर विचार-विमर्श किया। उम्मीद की जा रही है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दस देशों के इस समूह से संबंधों को मजबूत करने की जमीन तैयार करेंगे। यहां वह व्यापार बढ़ाने के लिए क्षेत्रीय संपर्क पर जोर देने के साथ ही वहां के लोगों से भी जुडऩे का प्रयास करेंगे।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.