सोशल मीडिया पर छाई मालकिन की शादी और कैंसर पीड़ित डॉगी की कहानीUpdated: Mon, 19 Sep 2016 05:06 PM (IST)

अपने बचे हुए जीवन में यह डॉगी की अपनी मालकिन की शादी में शामिल हो सका।

कोलोराडो। दुनियाभर के लोग अपने पेट्स से बहुत प्‍यार करते हैं और समय के साथ वे उनके जीवन का महत्‍वपूर्ण हिस्‍सा बन जाते हैं। एक दूसरे के साथ अधिकांश समय बिताते हैं और जब हम अकेला महसूस करते हैं तो वे हमारी मदद के लिए हमारे पास होते हैं।

ये मूक प्राणी हमसे बदले में केवल प्‍यार ही चाहते हैं इसलिए किसी व्‍यक्‍ित के जीवन में किसी प्‍यारे पेट की अनुपस्‍थित एक खालीपन ला सकती है।

हाल ही में एक ऐसी मालकिन की कहानी इंटरनेट पर वायरल हो गई जिसका डॉगी इस दुनिया में कुछ दिनों का ही मेहमान था। अपने बचे हुए जीवन में यह डॉगी की अपनी मालकिन की शादी में शामिल हो सका।

लाश की राख को केले में मिलाकर खाते हैं यहां के लोग

केली ओ कोनेल एक एनिमल शेल्‍टर में चार्ली नाम के डॉगी से मिली थी जब वह मात्र 12 सप्‍ताह का था और वह 19 साल की। चीजें तब बदल गई जब चार्जी को अप्रैल 2015 में दौरे पड़ने लगे और उसे ब्रेन ट्यूमर डायग्‍नोज किया।

केली की शादी के कुछ सप्‍ताह पहले तक उसकी यह बीमारी ज्‍यादा बढ़ गई। तब केली और उसके बॉयफ्रेंड ग्रेविन ने फैसला किया कि उसे हमेशा के लिए सुला देंगे।

इस साल 9 सितंबर को हमेशा के लिए दुनिया से अलविदा कहने से पहले चार्ली, केली की शादी में शरीक हुआ। यह कपल पांच अन्‍य डॉगी के साथ स्‍टेज पर पहुंचे। चार्ली इतना कमजोर हो गया था कि उसे केली की बहन ने गोद में उठा रखा था।

सोशल मीडिया में लोग कह रहे हैं कि शायद इस डॉगी को अपनी 'प्रिय' की शादी का ही इंतजार था। वह उसे खुशी-खुशी उसकी नई जिंदगी में दाखिल होते हुए देखना चाहता था इसलिए उसे इस बीमारी के बावजूद इतनी शक्‍ति मिल गई।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.