जरा हटके: ट्रंप के भाषण और बारिश का अनोखा संयोगUpdated: Sat, 21 Jan 2017 07:27 AM (IST)

व्हाइट हाउस में शानदार समारोह में डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति शपथ ली।

वॉशिंगटन। व्हाइट हाउस में शानदार समारोह में डोनाल्ड ट्रंप ने अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति शपथ ली। पूरा आयोजन कई मायनों में खास रहा। एक संयोग ट्रंप का भाषण और बारिश से जुड़ा सामने आया है।

दरअसल, ट्रंप का भाषण शुरू होते ही बारिश होने लगी। 1937 में फ्रैंकलिन डी रूजवेल्ट और 1969 में रिचर्ड निक्सन के शपथ ग्रहण समारोह के दौरान भी ऐसा ही हुआ था।

एक नजर ट्रंप के शपथग्रहण की रोचक बातों पर -

- इससे पहले व्हाइट हाउस में 9 लाख लोगों की उपस्थिति में हुए शानदार कार्यक्रम में शुक्रवार दोपहर ठीक 12 बजे मुख्य न्यायाधीश जॉन राबर्ट्स ने 70 साल के ट्रंप को राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई गई।

- डोनाल्ड ट्रंप ने शपथ लेने से पहले शुक्रवार को प्रार्थना के लिए सेंट जान्स एपिसकोपल चर्च पहुंचे। उनकेसाथ परिवार के सदस्य भी थे। ट्रंप और उनकी पत्नी मेलानिया का चर्च के द्वार पर पादरी ने स्वागत किया।

- वॉशिंगटन की सड़कों पर माहौल भी कुछ उसी तरह का रहा, जिस तरह का नरेंद्र मोदी के भारत का प्रधानमंत्री बनते समय था। ट्रंप के समर्थक पूरी मस्ती में शराब पीते हुए नाच-गा रहे थे।

- ट्रंप व्हाइट हाउस के निकट सरकारी गेस्ट हाउस में रुके थे। ट्रंप ने शपथग्रहण के लिए बाइबिल की दो प्रतियों का इस्तेमाल किया। इनमें एक बाइबिल अब्राहम लिंकन की और दूसरी उनकी मां की दी हुई है।

-बहरहाल, इस दौरान ट्रंप विरोधियों ने प्रदर्शन भी किया। अमेरिकी इतिहास में ऐसा दूसरी बार हुआ। इससे पहले, 1973 में रिचर्ड निक्सन के शपथ ग्रहण में सबसे ज्यादा प्रदर्शनकारी आए थे। तब 25 हजार से ज्यादा लोगों ने निक्सन का विरोध किया था।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.