वियतनाम की हिंसा में 21 की मौत, चीनी नागरिकों का पलायनUpdated: Thu, 15 May 2014 09:42 PM (IST)

नागरिकों की मौत के लिए चीन ने वियतनाम को जिम्मेदार ठहराया। संयुक्त राष्ट्र ने चीन-वियतनाम से की संयम बरतने की अपील।

बीजिंग। वियतनाम में चीन विरोधी हिंसक प्रदर्शनों का दौर थमने का नाम नहीं ले रहा है। अब तक कम से कम 21 लोगों की मौत हो चुकी है। अपनी नागरिकों की मौत के लिए चीन ने वियतनाम को जिम्मेदार ठहराया है। हिंसक प्रदर्शनों के डर से हजारों चीनी नागरिकों ने कंबोडिया की ओर पलायन किया है। संयुक्त राष्ट्र महासचिव बान की मून ने चीन और वियतनाम से संयम बरतने की अपील की है। इधर ताईवान ने वियतनाम से अपने हजारों नागरिकों को वापस बुलाना शुरू कर दिया है। हिंसा में सैकड़ों ताइवानी कंपनियों को भारी नुकसान पहुंचा है।

चीन की ओर से विवादास्पद दक्षिण चीन सागर में तेल खुदाई अभियान के विरोध में वियतनाम में हिंसा जारी है। हजारों वियतनामी नागरिकों ने विदेशी कंपनियों में आग लगा दी और पूरे औद्योगिक क्षेत्र में दंगा कर रहे हैं। दक्षिण चीन सागर पर वियतनाम अपना दावा करता रहा है।चीनी विदेश मंत्रालय की प्रवक्ता हुआ चनिंग ने कहा, बीजिंग घटनाक्रम पर करीबी नजर रखे है।

मीडिया रिपोर्टों में कहा गया है कि चीनी फैक्ट्रियों और परियोजनाओं को निशाना बनाकर हुए हिंसक प्रदर्शनों में 21 लोगों की मौत हुई है। चीनी की आधिकारिक समाचार एजेंसी शिन्हुआ के अनुसार, दो चीनी नागरिकों की मौत हुई और दस लापता हैं। मध्य वियतनाम के हा तिन्ह प्रांत में चीनी कंपनियों में हमले में 149 लोग घायल हुए हैं और 100 से अधिक अस्पताल में भर्ती हैं। चीनी प्रवक्ता हुआ ने हिंसक प्रदर्शनों के लिए वियतनाम को दोषी ठहराया है।

चीनी उच्चायोग ने वियतनाम से वहां अपने नागरिकों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए कहा है। उच्चायोग की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि उसने पड़ोसी देश में चीन विरोधी हालात से निपटने के लिए आपातकालीन व्यवस्था की गई है।

इस बीच, कंबोडिया के पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि एक दिन पहले ही तकरीबन 600 से ज्यादा चीनी नागरिक कंबोडिया आए हैं। चीनी नागरिकों के कंबोडिया आने का सिलसिला जारी है। इनमें से कई नोमपेन्ह के अतिथि गृहों और होटलों में ठहरे हैं। हालात सामान्य होने के बाद वे संभवतः वियतनाम या अन्य जगहों की ओर लौटेंगे।

अमेरिका ने की नौसैनिक जहाज भेजने की पेशकश

वियतनाम और चीन के बीच बढ़ते तनाव के मद्देनजर अमेरिका ने अपने और नौसैनिक जहाज हनोई भेजने की पेशकश की है। प्रशांत महासागर में अमेरिकी हितों के रक्षक नौसेना के सातवें जहाजी बेड़े के प्रवक्ता कमांडर विलियम मार्क्स ने वियतनाम के साथ अपने नौसैनिक संबंध और मजबूत बनाने की इच्छा दोहराते हुए कहा, अगर वियतनाम को जरूरत पड़ी तो वह अपने नौसैनिक जहाज भेजने के लिए तैयार हैं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.