वजन कम करना चाहते हैं तो ज्यादा नींद लेनी होगीUpdated: Mon, 19 Jun 2017 05:25 PM (IST)

झपकियों से नींद ज्यादा बेहतर है क्योंकि नींद गहरी होती है

सियोल। अगर आप पर्याप्त नींद नहीं लेते हैं तो आपको शारीरिक से लेकर मनोवैज्ञानिक तक कई समस्याएं हो सकती है। यह हार्मोंस और मेटाबाॅलिज्म को बाधित कर सकता है और मोटापे का खतरा बढ़ने के लिए पहचाना जाता है।

सियोल नेशनल यूनिवर्सिटी बुडांग हाॅस्पिटल के डाॅ. चेंग हो यून के मुताबिक 'शाॅर्ट स्लीप कई मामलों में सामान्य और अपरिहार्य होती है और मोटापे, हाइपरटेंशन, कोरोनरी हार्ट डिसीज और साथ ही मृत्यु दर के लिए जोखिम वाला कारक है।'

झपकियों से नींद ज्यादा बेहतर है क्योंकि नींद गहरी होती है और शरीर के स्लीप-वेक रिदम को ज्यादा करीब से फाॅलो करती है।

यह पता लगाने के लिए कि कितनी वीकेंड स्लीप शरीर के वजन से संबंधित है, शोधकर्ताओं ने 19 से 82 साल के 2 हजार से ज्यादा लोगों का देशव्यापी सर्वे यूज किया।

फेस टू फेस इंटरव्यू में, शोधकर्ताओं ने प्रतिभागियों से उनकी ऊंचाई और वजन, वीकडे और वीकेंड स्लीप हैबिट्स, मूड और मेडिकल कंडिशंस के बारे में पूछा। स्टडी टीम ने इन जानकारियों को बीएमआई देखने के लिए यूज किया। औसतन, प्रतिभागी जो कि 7.3 घंटे प्रति रात्रि सोए और 23 बीएमआई था, वे हेल्दी रेंज में आते हैं। लगभग 43 प्रतिशत लोग वीकडेज की बजाए वीकेंड्स पर लगभग दो घंटे ज्यादा सोए।

यून के मुताबिक अगर आप वीकडेज में सामाजिक दायित्वों या काम कारण पर्याप्त नींद नहीं ले पाए, तो वीकेंड में जितना संभव हो सके सोने की कोशिश कीजिए। यह मोटापे के जोखिम को कम करता है।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.