ट्रंप के अमेरिका से निराश स्टीफन हॉकिंग करेंगे अंतिरक्ष की सैरUpdated: Mon, 20 Mar 2017 08:47 PM (IST)

डोनाल्ड ट्रंप के नेतृत्व वाले अमेरिका से निराश स्टीफन हॉकिंग अंतरिक्ष की सैर पर जाएंगे।

लंदन डोनाल्ड ट्रंप के नेतृत्व वाले अमेरिका से निराश स्टीफन हॉकिंग अंतरिक्ष की सैर पर जाएंगे। 75 वर्षीय भौतिक विज्ञानी ने वर्जिन गैलेक्टिक अंतरिक्ष यान में सफर करने का अमेरिकी उद्योगपति रिचर्ड ब्रेनसन का न्योता स्वीकार कर लिया है।

आइटीवी न्यूज से बातचीत में उन्होंने कहा, अंतरिक्ष में जाने का अवसर मिलने की मुझे उम्मीद नहीं थी। लेकिन, वर्जिन के मुखिया ने मुझे यान में एक सीट की पेशकश की और मैंने झट से हां कह दिया।

ब्रह्मांड के जन्म की थ्योरी बिग बैंग की परिकल्पना सहित कई बड़े शोध के लिए प्रसिद्ध हॉकिंग ने कहा कि वे अमेरिका जाकर अन्य वैज्ञानिकों से बात भी करना चाहते हैं।

लेकिन, उन्हें डर है कि ट्रंप के नेतृत्व वाले अमेरिका में उनका स्वागत नहीं होगा। उन्होंने कहा कि ट्रंप की प्राथमिकता अपने उन समर्थकों को संतुष्ट करने की है जो न उदारवादी और न ही जिनके पास पर्याप्त जानकारी है। हॉकिंग पूर्व में ट्रंप को दुर्जनों का नेता भी कह चुके हैं।

2009 में उन्हें बराक ओबामा ने अमेरिका के प्रतिष्ठित फ्रैंकलिन मेडल से सम्मानित किया था। ट्रंप की जलवायु नीति से निराशा जताते हुए पर्यावरण सुरक्षा एजेंसी के प्रमुख स्कॉट प्रुट को उनके पद से हटाने पर भी हॉकिंग ने जोर दिया।

उन्होंने कहा कि जलवायु परिवर्तन उन बड़े खतरों में से है जिसका हम सामना कर रहे हैं। इसे नहीं रोका गया तो इससे अमेरिका को भी भारी नुकसान होगा।

पेरिस जलवायु संधि की मुखालफत कर चुके ट्रंप इस क्षेत्र में शोध के लिए बजट में भारी कटौती करने जा रहे हैं। हॉकिंग ने ब्रेक्जिट (यूरोपीय संघ से ब्रिटेन का अलग होना) का विरोध करते हुए कहा कि यदि ब्रिटिश सरकार इस दिशा में आगे बढ़ती है तो उसकी शर्तें उतनी कठोर नहीं होनी चाहिए जैसा कंजरवेटिव पार्टी चाहती है।

ऐसा होने पर ब्रिटेन अलग-थलग पड़ जाएगा। विज्ञान और अन्वेषण के क्षेत्र में उसकी वैश्विक पहचान को खतरा पैदा हो जाएगा।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.