पाक कोर्ट ने कहा, दुरुपयोग रोकने को ईशनिंदा कानून में हो बदलावUpdated: Sat, 12 Aug 2017 07:23 PM (IST)

पाकिस्तान में हाई कोर्ट ने सरकार से विवादास्पद ईशनिंदा कानून के दुरुपयोग को रोकने के लिए इसमें बदलाव करने को कहा है।

इस्लामाबाद। पाकिस्तान में हाई कोर्ट ने सरकार से विवादास्पद ईशनिंदा कानून के दुरुपयोग को रोकने के लिए इसमें बदलाव करने को कहा है। कोर्ट ने साथ ही किसी व्यक्ति पर ईशनिंदा के झूठे आरोप लगाने वाले को भी कड़ी सजा देने का सुझाव दिया है। पाकिस्तान में ईशनिंदा के लिए मौत की सजा का प्रावधान है।

अखबार डान के मुताबिक, इस्लामाबाद हाई कोर्ट के जज शौकत अजीज सिद्दीकी ने शुक्रवार को सोशल मीडिया से ईशनिंदा के कंटेंट हटाने संबंधी मामले में फैसला सुनाया। जज ने कहा कि लोग अपनी निजी दुश्मनी को लेकर प्रतिद्वंद्वी को ईशनिंदा कानून में फंसा देते हैं। इससे न केवल आरोपी बल्कि उसके पूरे रिश्तेदार की जान को खतरा हो जाता है।

फैसले में जस्टिस सिद्दीकी ने सुझाव दिया कि ईशनिंदा कानून को और कठोर बनाया जाए और किसी पर झूठा आरोप लगाकर इसका दुरुपयोग करने वाले को भी वही सजा दी जाए। मौजूदा कानून के तहत झूठा आरोप लगाने वाले को मात्र छह महीने जेल की सजा या 1000 रुपये जुर्माने का प्रावधान है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.