सड़क के बीच में बने इस मकान को अब किया जाएगा शिफ्ट, जानिए पूरी कहानीUpdated: Wed, 13 Sep 2017 06:07 PM (IST)

चीन में चार लेन के सड़क के बीचोंबीच चारो तरफ उंचे- उंचे अपार्टमेंटो से घिरा एक अकेला घर अब शिफ्ट होगा।

मल्टीमीडिया डेस्क। चीन में चार लेन के सड़क के बीचोंबीच चारो तरफ उंचे- उंचे अपार्टमेंटो से घिरा एक अकेला शी परिवार का ढहता तीन मंजिला घर लंबे समय से अपने आस पास के परिवेश से बाहर है। क्योंकि अब वहाँ उसके सिवा कोई घर नहीं बचा है।

लेकिन आने वाले समय में यह एकलौता घर जो कि यहां से जियोटिंग टॉवर के ह्यूटिंग रोड पर सांगजिंग जिले के उपनगर में चला जाएगा।

वर्ष 2011 से यह घर सेटलमेंट के मुद्दों पर सरकार के साथ असहमति होने के कारण इलाके में एकलौता बचा था। जबकि उनके सभी पड़ोसियों के घरों को सड़क तथा बुनियादी ढांचा बनाने के लिए पहले ही स्थानांतरित कर दिया गया था। लेकिन अब शीज भी अपने घर को हटाने पर सहमत हो गये हैं।

इस परिवार के 70 वर्षीय सदस्य जियांग झिंगुओ ने कहा कि हम थक चुके हैं और यहाँ से जाने के सिवा कोई भी विकल्प नहीं बचा है।

2003 में जब स्थानीय प्रशासन ने इसके स्वरुप को बदलने का फैसला किया तब यह जगह और गंदी थी जो बाढ़ तथा भारी बारिश से और भी गंदी दिखती थी। लेकिन शियुज के लिए अपनी रक्त भूमि से अलग होना बहुत बड़ा मामला है।

इस परियोजना को 2008 के अंत तक कार्यान्वित करने का फैसला लिया था लेकिन स्थानांतरण प्रक्रिया में देरी के कारण वर्ष 2011 में डेडलाईन रखने के बावजूद इसमें लगातार देरी हो रही है। क्योंकि शियुज ने लगातार यहां से जाने के सरकारी फैसले का विरोध किया था । इस कारण यह 4 लेन की 600 मीटर की सड़क उनके घर के पास सिकुड़कर 2 लेन की हो गई है।

सेवानिवृत्त होने से पहले एक मिक्सर ट्रक चालक के रूप में काम करने वाले झांग ने कहा, "मुझे परियोजना की आवश्यकता समझ आ रही है और यह शुरुआत से ही मैं करना चाहता था, लेकिन हम इसे अपनी उचित हिस्सेदारी हासिल करने की उम्मीद कर रहे थे।

उन्होंने बतााय कि शहर के बहुत सारे बड़े इंफ्रास्टक्चर प्रोजेक्ट का हिस्सा होने के कारण मैं गर्व का अनुभव करता हूँ। झांग और उनके सास, जू योंगटाओ, पहले से ही जाने के लिए तैयार थे जबकि जांग के बेटे और जू जून के पास उनसे अलग विचार थे। सरकार नौ सदस्यीय परिवार को विला और धन के साथ स्थानांतरण करने के लिए तैयार थी। लेकिन जू जून ने सरकार से कहा कि वे विला के साथ एक अपार्टमेंट भी चाहते हैं।

जब सरकार उन्हें चार अपार्टमेंट देने के लिए सहमत हो गई तो परिवार ने तर्क दिया कि उन्हें छह दिए जाने चाहिए लेकिन सरकार ने इस तथ्य पर ध्यान नहीं दिया। इस कारण सरकार तथा उनके बीच कई दौर की यह बातचीत चलती रही। लेकिन आखिरकार समझौता अब हुआ।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.