ऐसे ले अपनी यात्रा की तस्‍वीरों का बैकअपUpdated: Wed, 03 Jun 2015 12:25 PM (IST)

यदि आप घूमने गए हैं, तो अपने ट्रैवल फोटोज का बैकअप लेना महत्वपूर्ण होगा।

यदि आप घूमने गए हैं, तो अपने ट्रैवल फोटोज का बैकअप लेना महत्वपूर्ण होगा। वैसे तो फोटोज का बैकअप लेना बहुत चुनौतीपूर्ण काम हैं पर असल में यह बहुत सिंपल हो जाता है, जब आप एक बार शुरू करते हैं। यहां हम कुछ तरीकें बता रहे हैं जिनसे आप इन तस्वीरों को सुरक्षित रख सकते हैं:

मल्टीपल मेमोरी कार्ड्स

यह रोड़ पर फोटोज को मैनेज करने का सबसे सस्ता तरीका है। विभिन्न क्षमता के बहुत सारे मेमोरी कार्ड्स खरीदकर, आप आसानी से अपनी ट्रिप के कुछ सेगमेंट विभिन्न कार्ड्स में वर्गीकृत कर सकते हैं। वैसे देखा जाए तो, अलग-अलग कार्ड्स को रखना बैकअप लेने का कोई सॉल्यूशन नहीं है, आपको फिर भी अपने फोटोज की एक्स्ट्रा कॉपीज बनाने की जरूरत पड़ेगी।

क्या आपके कैमरा में बहुत सारे कार्ड्स स्लोट्स है? सामान्य तौर पर हाईऐंड डीएसएलआर में डुअल मेमोरी स्लॉट्स पाएं जाते हैं। इन दोनों स्‍लॉट्स पर इमेज को ऑटोमेटिकली स्टोर या कॉपी करने के लिए या फिर जेपीजी इमेजेज को स्टोर करने के लिए एक कार्ड पर और रॉ फाइल्स को दूसरे पर कन्फिग्यर्ड किया जा सकता है।

इस समाधान की खराबी यह है कुछ मेमोरी कार्ड्स, विशेष रूप से एसडी कार्ड्स जो आकार में छोटे होते हैं उनके खो जाने का डर रहता है। अगर आपके कैमरा में वाई-फाई है, तो अपने फोटोज का रोजाना बैकअप स्मार्टफोन या टैबलेट में लें।

लैपटॉप्स और टैबलेट्स

क्या आप अपने कंप्यूटर के बिना नहीं रह सकते? वैसे यह एक बहुत बढ़िया तरीका है अपने फोटोज और वीडियोज का बैकअप लेने का। कंप्यूटर की हार्ड ड्राइव पर एक समाधान यह है कि फोटोज की मल्टीपल कॉपीज क्रिएट की जाएं और फिर उनका एक सेट कंप्यूटर की हार्ड ड्राइव पर रख लिया जाएं और कम से कम एक कॉपी एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव पर सेव कर ली जाए।

पोर्टेबल बैकअप डिवाइस

अगर लैपटॉप और एक्सटर्नल हार्ड ड्राइव आपके बिल में फिट नहीं बैठती तो फिर पोर्टेबल बैकअप डिवाइस आपके लिए बेस्ट सॉल्यूशन हो सकता है। यह डिवाइसेज अपने आप में हार्ड ड्राइव होती हैं, परन्तु यह फोटोज और वीडियोज को ट्रांसफर करने के लिए कॉम्पेक्ट फ्लैश और एसडी कार्ड स्लॉट्स जैसे फीचर्स के साथ आती हैं। नेक्सटो डीआई या हाइपर ड्राइव ऐसी डिवाइसेज हैं, जिनमें इमेजेस को प्रिव्यू करने के लिए एक एलसीडी मॉनिटर लगा होता है।

क्लाउड स्टोरेज

इंटरनेट एक्सेस फोटोग्राफर्स, फोटोज का बैकअप लेने के लिए क्लाउड स्टोरेज सर्विस का प्रयोग कर सकते हैं। इसके लिए फोटो स्पेसिफिक साइट्स है जैसे- फ्लिकर, परन्तु विभिन्न प्रकार की फाइल्स के बंच को स्टोर करने वाली सर्विसेज को भी भूलें नहीं जैसे- ड्रॉपबॉक्स।

अपने फोटोज क्लाउड के कैमरा से फोटोज प्राप्त करने के लिए, एक डेडिकेटेड कार्ड रीडर में इनवेस्ट करें, इसे आप एक इंटरनेट कैफे में एक कंप्यूटर के अंदर प्लग कर सकते हैं। सीधे कैमरा से ट्रांसफर करने की जगह यह आपकी जिंदगी को ज्यादा आसान बना देगा।

ऑटोमेटिक स्मार्टफोन बैकअप

आप अपने फोटोज का ऑटोमेटिक बैकअप अपने स्मार्टफोन पर भी ले सकते हैं। इसके लिए विभिन्न सर्विसेज उपलब्ध है, इनमें आईक्लाउड ऐपल यूजर्स के लिए, गूगल प्लस फोटोज, ड्रॉपबॉक्स, वनड्राइव और फेसबुक भी शामिल हैं।

अगर कभी ऐसी सिचुएशन आ जाए, जहां आप इंटरनेट एक्सेस नहीं कर सकते हैं, तब वाई-फाई के साथ पोर्टेबल हार्ड ड्राइव को ट्राइ करें जैसे- सीगेट वायरलेस प्लस। आप एक हैंडसेट/टैबलेट से हार्ड ड्राइव में एक एंड्रायड और आईओएस ऐप के द्वारा फोटोज और वीडियोज भेज सकते हैं।

वर्कफ्लो टिप्स

अगर आपके पास ट्रैवलिंग में लैपटॉप है, तो यहां कुछ वर्कफ्लो टिप्स है, जो आपके बैकअप सॉल्यूशन को आसान बना सकते हैं। कैमरा में सही समय और डेट सेट करें, ऐसा करने का मतलब है कि इमेजेस की लिस्‍ट बिल्कुल सही होगी।

आदत डालें: फोटोज को रोजाना ट्रांसफर करें।

अपनी इमेज को कैटलॉग करें: हर दिन के अंत में फोटोज ऑर्गेनाइज करने के लिए एडोब का लाइटरूम जैसा प्रोग्राम प्रयोग करें। फोटोज को इम्पोर्ट करें, फिर रेटिंग स्टार फीचर का इस्तेमाल करते हुए, शॉट्स को जल्दी से स्कैन करें ताकि बेस्ट शॉट का पता चल सकें। बेकार शॉट्स को छिपाने या रिमूव करने के लिए यह अच्छा तरीका है।

क्विक एडिट्स को परफॉर्म करें: किसी भी चीज को आसानी से फिक्स किया जा सकता है जैसे- रेड आइ को रिमूव करना।

हर चीज को टैग करें: हम सभी जानते हैं ट्रिप पर से वापस आने के बाद फोटोग्राफर्स याद रखने के लिए 6 महीने लेते हैं। सुनिश्चित कर लें कि लाइट रूम में बल्क टैग्स अप्लाई करके क्विक लोकेशन की जानकारी रख लें।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.