Live Score

भारत 141 रन से जीता मैच समाप्‍त : भारत 141 रन से जीता

Refresh

गूगल की वजह से बढ़ गए ऐपल के शेयर, जाने क्या है पूरा मामलाUpdated: Thu, 12 Oct 2017 10:24 AM (IST)

मामला इतना बढ़ गया कि इस खबर को गलती से फैलाने वाली फर्म को सफाई देने के लिए एक पोस्ट शेयर करनी पड़ी।

वॉशिंगटन। बुधवार को अचानक यह खबर जंगल में आग की तरह फैल गई कि इंटनेट की दिग्गज कंपनी गूगल नौ अरब डॉलर में ऐपल को खरीदने जा रही है। इस खबर के सामने आते ही लोग सोशल मीडिया पर इसे शेयर करने लगे। इस खबर का असर स्टॉक मार्केट पर भी हुआ और ऐपल के स्टॉक में जबरदस्त उछाल देखने को मिला।

मगर, अब पता चला है कि यह खबर फर्जी है। मगर, यह इसलिए तेजी से वारयल हो गई क्योंकि अमेरिकल पब्लिकेशन और अमेरिकी फाइनेंशियल इंफॉर्मेशन फर्म Dow Jones ने इसे जारी किया था। हालांकि, ऐसा उनसे गलती से हो गया था। वे सब्सक्राइबर के लिए न्यूज भेजने के लिए इंटर्नल टेक्नोलॉजी टेस्ट कर रहे थे और इसे प्रकाशित करने का उनका कोई इरादा नहीं था।

मामला इतना बढ़ गया कि इस खबर को गलती से फैलाने वाली फर्म को सफाई देने के लिए एक पोस्ट शेयर करनी पड़ी। इतना ही नहीं, फर्म ने खबर की सभी लिंक भी दो मिनट के अंदर ही हटा लिए थे। हालांकि, जब तक कंपनी ने अपनी गलती के लिए मांफी मांगी तब तक यह खबर वायरल कर चुकी थे।

इस खबर में कहा गया था कि गूगल के चीफ एक्जिक्यूटिव लैरी पेज ने 2010 में स्टीव जॉब्स के साथ डील की थी। उसी डील के तहत दोनों कंपनियां मर्ज होने जा रही हैं। बाद में Dow Jones फर्म ने इसके बाद मांफी मांगते हुए पोस्ट शेयर किया और लोगों से इस खबर को अनदेखा करने को कहा।

सीनियर डायरेक्टर कम्युनिकेशंस स्टीव सेवरिंगहॉस ने एक बयान में कहा- कृपया Dow Jones न्यूजवायर पर सुबह 9:34 से 9:36 के बीच चलने वाली सुर्खियों की उपेक्षा करें। टेक्निकल एरर के कारण यह हेडलाइन जारी हो गई थी, जिसे वायर से हटा दिया गया है। हम इस गलती के लिए क्षमा मांगते हैं।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.