ऐसा हुआ तो आप सोचेंगे और फेसबुक पर हो जाएगा टाइपUpdated: Thu, 20 Apr 2017 11:12 AM (IST)

यह सिस्टम यूजर की तंत्रिका गतिविधि को डीकोड कर 100 शब्द प्रति मिनट की स्पीड से "टाइपिंग" करने में सक्षम होगा।

वॉशिंगटन। फेसबुक ऐसी टेक्नोलॉजी पर कर रहा है काम, जिसके बारे में जानकर आप हैरान हो जाएंगे। इसे 'साइलेंट कम्युनिकेशन' का नाम दिया गया है। यानी आप जो अपने दिमाग में सोच रहे होंगे, वह आपके कंप्यूटर में टाइप हो जाएगा।

फेसबुक के वाइस प्रेसिडेंट ऑफ इंजीनियरिंग एंड हेड ऑफ सीक्रेटिव बिल्डिंग 8, रेजिना डुगन ने बताया भविष्य क्रांतिकारी टेक्नोलॉजी से भरा हुआ है, जो हमें बिना टाइप किए लोगों से संवाद करने में सक्षम बनाएगी।

डुगन ने बुधवार को घोषणा की कि फेसबुक में 60 लोगों की एक टीम इंसानी दिमाग द्वारा संचालित होने वाले कंप्यूटर इंटरफेस पर काम कर रही है। यह सिस्टम यूजर की तंत्रिका गतिविधि को डीकोड कर 100 शब्द प्रति मिनट की स्पीड से "टाइपिंग" करने में सक्षम होगा। हम स्मार्टफोन पर जिस स्पीड से टाइप करते हैं, इससे पांच गुना तेजी से टाइप हो सकेगा।

फेसबुक का कहना है कि यह टेक्नोलॉजी कम्युनिकेशन डिसऑर्डर की समस्या से जूझने वाले लोगों के लिए सहायक होगी। फेसबुक के तथाकथित 'साइलेंट स्पीच इंटरफेस' कई भविष्यवादी विचारों में से एक है। सोशल मीडिया की दिग्गज कंपनी फेसबुक ने इस हफ्ते अपनी वार्षिक एफ 8 कॉन्फ्रेंस में इसकी चर्चा की।

कंपनी ने एक ऐसी प्रणाली का भी प्रदर्शन किया, जिसे लोग अपनी त्वचा के माध्यम से आवाज को महसूस कर सकें। फेसबुक के स्वामित्व वाले ओकुलस रिसर्च के प्रमुख वैज्ञानिक माइकल अब्रैश ने एआर चश्मा भी पेश किया, जिसे लगाने के बाद वास्तविक दुनिया की डिजिटल जानकारी मिल जाती हैं।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.