यह ऐप पहचान लेती है नकली सामान, कर देती है दूध का दूध पानी का पानीUpdated: Mon, 10 Jul 2017 07:33 AM (IST)

वैज्ञानिकों ने एक ऐसा स्मार्टफोन ऐप विकसित किया है जिससे नकली सामान की आसानी से एकदम सटीक पहचान हो सकेगी।

लंदन। वैज्ञानिकों ने एक ऐसा स्मार्टफोन ऐप विकसित किया है जिससे नकली सामान की आसानी से एकदम सटीक पहचान हो सकेगी। नया ऐप दवाओं से लेकर कार के कलपुर्जों तक की पहचान कर बता सकता है कि यह असली या नकली।

इस ऐप को अगले साल तक उपभोक्ताओं के लिए मुहैया कराया जा सकता है। शोधकर्ताओं के अनुसार, हर साल दुनियाभर में नकली और पायरेटेड सामान से करीब 32 लाख करोड़ रुपए का नुकसान होता है। जबकि उद्योगों को अकेले नकली दवाओं से ही हर साल 13 लाख करोड़ का भारी नुकसान झेलना पड़ता है।

ये दवाएं सेहत के लिए भी घातक होती हैं। इसके चलते हर साल लाखों लोगों की मौत हो जाती है। इसे ध्यान में रखकर ब्रिटेन की लैंकेस्टर यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं ने नई क्वांटम तकनीक ईजाद की है।

उनका कहना है कि इस तकनीक की मदद से सामान की जालसाजी असंभव हो जाएगी। यह तकनीक स्मार्टफोन ऐप के माध्यम से काम करती है। इस ऐप के जरिए यह जाना जा सकता है कि कोई सामान असली या नकली है। शोधकर्ताओं का कहना है कि डिजिटल पहचान से उत्पादों की जालसाजी को खत्म किया जा सकता है। यह तकनीक और संबंधित ऐप 2018 की पहली छमाही में ग्राहकों को मुहैया करा दिए जाने की उम्मीद है।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.