बर्लिन विश्व कप से खाली हाथ लौटे भारतीय तीरंदाजUpdated: Sat, 12 Aug 2017 06:12 PM (IST)

तीरंदाजी विश्व कप के चौथे चरण में पुरुष कंपाउंड टीम की हार के साथ भारतीय तीरंदाजों का अभियान बिना पदक के खत्म हो गया।

बर्लिन। तीरंदाजी विश्व कप के चौथे चरण में पुरुष कंपाउंड टीम की हार के साथ भारतीय तीरंदाजों का टूर्नामेंट में अभियान बिना पदक के खत्म हो गया।

भारत को हराकर जर्मनी तीसरे स्थान पर रहा। अभिषेक वर्मा, अमन सैनी और अमनजीत सिंह की तीसरी वरीयता प्राप्त भारतीय टीम को पांचवीं वरीयता प्राप्त जर्मनी ने 225-227 से हराकर कांस्य पदक पर कब्जा जमाया।

पहले राउंड में दोनों टीमें 57 के स्कोर के साथ बराबरी पर थीं, लेकिन दूसरे राउंड में जर्मनी ने शानदार प्रदर्शन कर 115-111 की बढ़त बना ली। भारत ने तीसरे राउंड में 58 शॉट बनाए, लेकिन यह उसकी हार बचाने के लिए पर्याप्त नहीं था। इसके बाद जर्मनी ने तीन अंकों की बढ़त बना ली और चौथे राउंड में मुकाबला जीत लिया।

तीरंदाजी विश्व कप का यह अंतिम चरण था, जिसमें भारत को खाली हाथ लौटना पड़ा। भारत ने विश्व कप अभियान के दौरान कंपाउंड वर्गों में एक टीम स्वर्ण (पहला चरण, शंघाई) और एक मिश्रित टीम कांस्य (दूसरा चरण, अंताल्या) हासिल किया। रिकर्व तीरंदाज कोई भी पदक हासिल करने में नाकाम रहे। पुरुषों की कंपाउंड टीम से ही भारत को पदक की उम्मीद थी। उसके अलावा अन्य भारतीय तीरंदाज क्वार्टर फाइनल से आगे नहीं बढ़ सके थे।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.