टेस्ट में वनडे जैसी बल्लेबाजी, टीम इंडिया ने 7 साल बाद किया यह कारनामाUpdated: Sat, 12 Aug 2017 12:04 PM (IST)

इससे पहले 2010 में मोहाली में खेले गए टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 99 गेंद यानी 16.3 ओवर में 100 रन बनाए थे।

कैंडी। श्रीलंका के खिलाफ कैंडी टेस्ट में टीम इंडिया के सलामी बल्लेबाजों ने ताबड़तोड़ शुरुआत की है। टेस्ट में वनडे स्टाइल की बल्लेबाजी करते हुए शिखर धवन और केएल राहुल ने पहले 100 रन महज 17.4 ओवर में बना लिए। सन् 2010 यानी सात साल बाद ऐसा मौका है कि टीम इंडिया ने टेस्ट में 107 गेंदों या इससे कम में 100 रन बनाए हों।

इससे पहले 2010 में मोहाली में खेले गए टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 99 गेंद यानी 16.3 ओवर में 100 रन बनाए थे। यह टेस्ट टीम इंडिया ने एक विकेट से जीता था। खास बात यह भी है कि 2001 के बाद यह छठा मौका है जब टीम इंडिया ने इतनी तेजी से टेस्ट में 100 रन बनाए हों।

बहरहाल, कैंडी टेस्ट में शिखर धवन और केएस राहुल ने श्रीलंकाई गेंदबाजों को संभलने का जरा भी मौका नहीं दिया। पहले 100 रन की साझेदारी में शिखर धवन के 52 रन और केएल राहुल के 45 रन शामिल थे।

राहुल की लगातार सातवां फिफ्टी

कैंडी टेस्ट में केएल राहुल की फिफ्टी उनका लगातार सातवां अर्द्धशतक है। इसके साथ ही उन्होंने एंडी फ्लावर, चंद्रपाल, कुमार संगाकारा और रोजर की बराबरी कर ली।

कोहली ने लगातार तीसरी बार जीता टॉस

इस सीरीज में टॉस के सिक्के ने कप्तान विराट कोहली का हर बार साथ दिया है। पहले दो टेस्ट की तरह ही यहां भी कोहली ने टॉस जीता और पहले बल्लेबाजी चुनी। इस श्रृंखला में भारतीय टीम पहले ही 2-0 की अजेय बढ़त बना चुकी है। भारत ने गॉल में पहला टेस्ट 304 रन से और कोलंबो में दूसरा टेस्ट पारी और 53 रन से जीता था।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.