गांगुली या भूटिया हो सकते हैं राज्यसभा के प्रत्याशीUpdated: Fri, 19 May 2017 11:28 PM (IST)

क्रिकेट के मैदान में नाम कमा चुके सौरव गांगुली को तृणमूल सियासी मैदान में उतारना चाहती है।

कोलकाता। क्रिकेट के मैदान में नाम कमा चुके सौरव गांगुली को तृणमूल सियासी मैदान में उतारना चाहती है। यदि सौरव ना करते हैं तो भारतीय फुटबॉल टीम के पूर्व कप्तान बाइचुंग भूटिया राज्यसभा के लिए तृणमूल उम्मीदवार हो सकते हैं।

अगले महीने राज्यसभा के छह सदस्यों के लिए पश्चिम बंगाल में चुनाव होना है। 22 मई से नामांकन शुरू होना है। 28 मई को नामांकन की आखिरी तिथि है। इस बीच एक बार फिर मुख्यमंत्री ममता बनर्जी दिल्ली जाने वाली हैं। ऐसे में पहले से चर्चा थी कि शुक्रवार को पार्टी की कोर कमेटी की बैठक में राज्यसभा के लिए संभावित उम्मीदवारों के नामों की घोषणा करेंगी, लेकिन ऐसा कुछ नहीं हुआ।

ऐसे में एक बार फिर कौन उम्मीदवार होगा, इस पर संशय बना हुआ है। राज्यसभा की जिन छह सीटों पर चुनाव होने हैं, उनमें से चार तृणमूल के तथा एक-एक कांग्र्रेस व वाममोर्चा के पास है। तृणमूल के राज्यसभा सदस्य मुकुल राय, दोला सेन, डेरेक ओ ब्रायन तथा देवब्रत मजुमदार का कार्यकाल अगले 18 अगस्त को खत्म हो रहा है। तृणमूल सूत्रों के मुताबिक ममता बनर्जी की सहमति से चार सीटों के लिए नाम तय किए जाएंगे। तीन का नाम तो लगभग तय है। लेकिन देवब्रत मजुमदार करीब 80 साल के हो गए हैं और उनका स्वास्थ्य खराब रहने लगा है। ऐसे में उनकी सीट पर किसे भेजा जाए, इसे लेकर चर्चा तेज है।

तृणमूल सूत्रों के मुताबिक इस सीट पर ममता किसी खिलाड़ी को भेजना चाहती हैं। इसके बाद सौरव गांगुली व बाइचुंग भूटिया के नाम पर चर्चा होने लगी थी। इस दिशा में सौरव पहली पसंद हैं। पार्टी के कई नेताओं ने उनसे इस बारे में बात भी की है। हालांकि वे दिलचस्पी नहीं दिखा रहे हैं। ऐसे में राज्यसभा के लिए भूटिया दूसरी पसंद हो सकते हैं।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.