गिरगिट की तरह रंग बदलेगा एशिया कपUpdated: Fri, 17 Apr 2015 09:48 AM (IST)

एशिया कप क्रिकेट में बड़ा बदलाव करने का फैसला हुआ है।

दुबई। एशिया कप क्रिकेट में बड़ा बदलाव करने का फैसला हुआ है। हाल ही में दुबई में हुई एशियाई क्रिकेट काउंसिल (एसीसी) की बैठक में तय हुआ है कि 2016 का एशिया कप टी-20 प्रारूप में खेला जाएगा, ताकि इसके बाद होने वाले टी-20 विश्व कप में टीमों को मदद मिल सके।

एसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सैयद अशरफूल हक ने यह जानकारी दी है। अब तक एशिया कप में 50-50 ओवर के मैच खेले जाते थे। सूत्रों के मुताबिक एशिया कप अगले साल 11 मार्च से 3 अप्रैल के बीच भारत में आयोजित किया जाएगा। हालांकि एसीसी ने इसकी पुष्टि नहीं की है।

हर बार होता रहेगा बदलाव

खास बात यह है कि एशिया कप के प्रारूप में इसी तरह बदलाव होता रहेगा। मसलन - अगला एशिया कप यानी 2018 में होने वाला आयोजन फिर अपने पुराने फॉर्मेट (50-50 ओवर) में खेला जाएगा। कारण यह है कि 2019 में इंग्लैंड में विश्व कप खेला जाना है। 2020 में फिर 20-20 ओवरों का एशिया कप होगा, क्योंकि इसके तुरंत बाद टी-20 विश्व कप खेला जाना है।

यह भी पढ़ें : भारत ने जीता विकलांग एशिया क्रिकेट कप

एशिया कप में और देशों को शामिल करने की कोशिश की जाएगी। माना जा रहा है कि अफगानिस्तान, नेपाल, हांगकांग और यूएई को टी-20 का स्टटेस मिल सकता है। अभी एक ही देश में आयोजन होता है। आने वाले वर्षों में दो देश जैसे भारत और पाकिस्तान, या श्रीलंका और बांग्लादेश मिलकर आयोजन कर सकते हैं।

इससे पहले के दो एशिया कप (2012 और 2014) का आयोजन बांग्लादेश में हुआ था। श्रीलंका फिलहाल एशिया कप चैंपियन है। 1984 से शुरू हुए एशिया कप को वह पांच बार जीत चुका है। भारत भी पांच बार विजयी रहा है। वहीं पाकिस्तान को दो बार यह कप जीतने में कामयाबी मिली है।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.