ज्‍योतिष के लिहाज से सुहागरात पर दूध के गिलास का मतलबUpdated: Wed, 19 Jul 2017 12:10 PM (IST)

पवित्र बंधन माना जाता है और इससे जुड़ी जो रस्‍में है उनका भी बड़ी ही गंभीरता से पालन किया जाता है।

भारतीय समाज में शादी एक बहुत ही पवित्र बंधन माना जाता है और इससे जुड़ी जो रस्‍में है उनका भी बड़ी ही गंभीरता से पालन किया जाता है। हमारे यहां सुहागरात को भी शादी का एक हिस्‍सा ही मानते हैं। सुहागरात पर दुल्‍हन को एक गिलास दूध अपने पति को देना होता है। इस रस्‍म का वैज्ञानिक के साथ ही साथ धार्मिक महत्‍व भी है। आइए जानते है दूध के गिलास के पीछे छिपे धार्मिक महत्‍व को-

ज्‍योतिष में दूध को शुक्र और चंद्रमा दो ग्रहों का प्रतीक माना जाता है। दुल्‍हन का दूध के गिलास को ले जाने का प्रभाव इन दोनों ग्रहों पर पड़ता है जो इन्‍हें बेहतर बनाता है और ये वैवाहिक जीवन को मजबूत बनाते हैं। शुक्र पुरुषों में शुक्राणु और कामेच्‍छा का प्रतीक माना गया है और चंद्रमा मन का प्रतीक है। इन दोनों ही ग्रहों में संतुलन स्‍थापित करने के लिए इस दूध की रस्‍म का निर्माण किया गया है।

अटपटी-चटपटी

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.