दुनिया का अकेला शख्स, जो है ट्रंप और किम जोंग, दोनों का दोस्तUpdated: Sat, 18 Nov 2017 07:36 AM (IST)

डेनिस के मुताबिक, उनका मकसद दोनों देशों को करीब लाकर दुनिया को परमाणु युद्ध से बचाना है।

मल्टीमीडिया डेस्क। अमेरिका के पूर्व बास्केटबॉल (NBA) खिलाड़ी डेनिस रोडमैन चर्चा में हैं। इस बार अपने खेल या अजीब-गरीब स्टाइल के कारण नहीं, बल्कि उत्तर कोरिया के अपने लगातार दौरों को लेकर। डोनाल्ड ट्रंप और उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन के बीच जैसी तनातनी चल रही है, उसमें सवाल उठना लाजिमी है कि आखिर डेनिस ऐसा क्यों कर रहे हैं और उनका मकसद क्या है? यहां हम आपको इसी बारे में बताएंगे।

खुद को बैड बॉय कहते हैं डेनिस

  • 56 साल के डेनिस बास्केटबॉल से रिटायर हो चुके हैं। वे खुद को बैड बॉय बताते हैं। उनकी पहचान शानदार खेल के साथ ही अजीब हेयरस्टाइल और टैटू के कारण भी है।
  • मेडोना के साथ उनके संबंध रहे, लेकिन उन्होंने शादी रचाई हॉलीवुड अभिनेत्री कारमैन एलेक्ट्रा से। हालांकि यह रिश्ता लंबा नहीं चला। डेनिस ने रेसलिंग और एक्टिंग में भी हाथ आजमाया। साथ ही कई ऑटोबायोग्राफी भी लिखी हैं।
  • डेनिस के बारे में कहा जाता है कि वे दुनिया के अकेले शख्स हैं, जिनके अमेरिका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और आज की तारीख में अमेरिका के सबसे बड़े दुश्मन किम जोंग उन से अच्छे संबंध हैं।

ऐसे हुई तानाशाह से दोस्ती

  • डेनिस 2013 में पहली बार नॉर्थ कोरिया गए थे। तब उन्होंने एक मीडिया कंपनी के साथ मिलकर बास्केटबॉल को प्रमोट करने का बीड़ा उठाया था। तभी उनकी किम जोंग उन से पहली मुलाकात हुई थी। बाद में डेनिस ने तानाशाह को अपना दोस्त बताया था।
  • जब डेनिस अपने राष्ट्रपति से मिले तो उन्होंने किम जोंग की तारीफ की थी और कहा था कि दोनों नेताओं को बास्केटबॉल पसंद है, इसलिए उन्हें दोस्ती कर लेना चाहिए।
  • किम जोंग से मुलाकात के बारे में डेनिस ने एक टीवी शो में कहा था कि हमने काफी अच्छा वक्त बिताया। हम स्कीईंग की, हॉर्स राइडिंग की और खूब मजे किए।
  • जुलाई 2013 में डेनिस ने घोषणा की थी कि उनका मकसद दोनों देशों के बीच जमी रिश्तों की बर्फ को पिघलाना है। इसके बाद 2014 में प्योंगयांग के इन्डोर स्टेडियम में अमेरिका और उत्तर कोरिया के बीच बास्केटबॉल का प्रदर्शन मैच हुआ। तब भी स्टेडियम में ये दोनों साथ बैठे नजर आए थे।
  • इसके बाद डेनिस कई बार उत्तर कोरिया जा चुके हैं और उनका हालिया दौरा जून 2017 में हुआ था। कुल मिलाकर वे पांच बार उत्तर कोरिया जा चुके हैं।
  • अमेरिका ने माना है कि डेनिस बार-बार उत्तर कोरिया जा रहे हैं, लेकिन ये उनकी निजी यात्राएं हैं, अमेरिकी सरकार उन्हें आधिकारिकतौर पर नहीं भेज रही है।

तानाशाह के बारे में क्या कहते हैं डेनिस

किम जोंग उन के बारे में डेनिस का कहना है कि वो इतना बुरे नहीं हैं, जितना कि दुनिया मान बैठी है। बकौल डेनिस, मैं जब भी किम से मिला, वे बिल्कुल शांत नजर आए। परिवार उनके साथ होता है। वे हमेशा मुस्कुराते रहते हैं। मेरी नजर में वे एक सामान्य इन्सान हैं।

दुश्मन से हाथ मिलने पर हुई याचिका

डेनिस के मुताबिक, उनका मकसद दोनों देशों को करीब लाकर दुनिया को परमाणु युद्ध से बचाना है, लेकिन अमेरिका में कुछ लोगों को यह कवायद रास नहीं आ रही है। यूएस ह्यूमन राइट्स ग्रुप ने डेनिस के खिलाफ याचिका दायर की है और मांग की है कि उन्हें बास्केटबॉल हॉल ऑफ फैम से हटा दिया जाए।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.