बेटी के लिए बचाएं पैसा, मिलेगा सबसे ज्‍यादा ब्‍याजUpdated: Mon, 02 Feb 2015 10:12 PM (IST)

इस योजना को बच्चियों की उच्‍च शिक्षा और शादी-विवाह पर होने वाले खर्च की आवश्‍यकता को ध्‍यान में रखते हुए बनाया गया है।

मल्‍टीमीडिया डेस्‍क। पिछले महीने जनवरी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 'बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ' कैंपेन के तहत बच्चियों के लिए एक छोटी सी जमा योजना की शुरुआत की है। इस योजना को बच्चियों की उच्‍च शिक्षा और शादी-विवाह पर होने वाले खर्च की आवश्‍यकता को ध्‍यान में रखते हुए बनाया गया है।

आइए जानते हैं कि इस योजना का लाभ, कौन और किस तरह से ले सकता है :

  • खाता खोलना : इस योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले अधिकृत बैंक या पोस्‍ट ऑफिस में एक खाता खोलना होगा। यह खाता बच्‍ची के माता-पिता या अभिभावक उसके 10 साल का होने तक खोल सकते हैं। एक बच्‍ची के नाम पर एक ही खाता खोला जा सकता है। यदि किसी की दो बेटियां हैं तो उसे दो अलग-अलग खाता खोलना होगा। यदि किसी के ट्रिप्‍लेट्स (त्रिक) बच्चियां हों तो उसे भी इस योजना का लाभ मिलेगा।
  • उम्र : सुकन्‍या जमा योजना के तहत 10 वर्ष से अधिक उम्र की बच्‍ची का खाता नहीं खोला जा सकता है। हालांकि इस वर्ष एक साल की छूट दी गई है।
  • ब्‍याज दर : इस योजना के तहत खाते में जमा राशि पर हर वर्ष भारत सरकार की ओर से ब्‍याज दरों की घोषणा की जाएगी। 2014-15 के लिए ब्‍याज दर 9.1 प्रतिशत तय की गई है।
  • स्‍थानांनतरण की सुविधा : इस खाते को जिस शहर में खोला जाएगा, वहां से किसी दूसरे शहर में भी स्‍थानांनतर‍ित किया जा सकेगा। यानी पूरे भारतवर्ष में कहीं भी स्‍थानांनतरित किया जा सकता है।
  • जमा निधि : इस खाते को न्‍यूनतम 1000 रुपए की राशि या उसके 100 रुपए के गुणांक के साथ खोला जा सकता है। एक वित्‍तीय वर्ष में कम से कम 1000 रुपए और अधिकतम डेढ़ लाख रुपए तक इस खाते में जमा किया जा सकेगा। यह राशि खाता खोलने से लेकर 14 वर्ष पूरा होने तक जमा रहेगी।
  • अर्थदंड : यदि किसी खाते में नियमित रूप में राशि जमा नहीं की जाएगी तो उस पर 50 रुपए प्रतिवर्ष का अर्थदंड भी आरोपित किया जाएगा।
  • खाता संचालन : सुकन्‍या जमा योजना खाते का संचालन बच्‍ची के अभिभावक द्वारा तब तक किया जाएगा, जब तक कि वह बच्‍ची 10 वर्ष की न हो जाए। 10 वर्ष की होने के बाद वह बच्‍ची अपने खाते का संचालन खुद करेगी।
  • निकासी : जब लड़की 18 वर्ष की हो जाएगी तब उसे जमा राशि की 50 फीसदी रकम उच्‍च शिक्षा के लिए मिल जाएगी।
  • टैक्‍स में राहत : सुकन्या समृद्धि योजना के तहत खुलने वाले खातों को टैक्स से छूट देने का फैसला किया है। वित्त मंत्रालय ने सोमवार को इसकी अधिसूचना जारी कर दी है। इस योजना के तहत खुलने वाले खातों को आयकर कानून की धारा 80-जी के तहत छूट दी जाएगी।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.