अच्छे दाम की उम्मीद में घर में ही प्याज का कर रहे भंडारण, 24 घंटे चल रहे पंखेUpdated: Sat, 21 May 2016 09:08 PM (IST)

प्याज की फसल का उचित दाम नहीं मिलने पर किसानों द्वारा अपने घरों में ही भंडारण कर दिया है।

कानड(दारासिंह आर्य)। प्याज की फसल का उचित दाम नहीं मिलने पर किसानों द्वारा अपने घरों में ही भंडारण कर दिया है, साथ ही 24 घंटे पंखे चलाए जा रहे हैं। प्याज की फसल के भरोसे सपने संजोने वाले किसानों के लिए बरबादी के अलावा कुछ नहीं दिखाई दे रहा।

चार से पांच रूपए किलो बिकने के कारण लागत भी नही निकल पा रही है। कानड व आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों में किसानों ने प्याज की फसल अधिक बोई थी।

आशा थी कि अच्छा भाव मिलेगा, लेकिन क्षैत्र के किसान ग्राम बटावदा के धिावनारायण पाटीदार, ग्राम अरोलिया के होकमसिह राजपुत, ग्राम ईकलेरा के सज्जनसिंह व दुलेसिह सिसोदिया, ग्राम सामगीमाना के लाखनसिंह, ग्राम भाड़ीभुंजी के कालुसिह भिलाला ने बताया कि मजबूरन प्याज का भंडारण करना पड रहा है। कुछ प्याज को खुले पाले में व कुछ बोरीयो में भरकर रखे गए हैं।

घरों को बनाया कोल्डस्टोर-

क्षैत्र के किसानों ने अपने घरों को ही प्याज भंडारण के लिए कोल्ड स्टोर बनाया है जिसमें एक कमरे में जमिन पर दुरी-दुरी पर ईटे जमा कर इस पर लोहे की मजबूत जाली बिछाई व पंखे लगाए जा रहे हैं। यह पंखे उल्टे 24 घंटों तक किसानों द्वारा चलाए जा रहे हैं, जिससे प्याज को हवा लग सके।

भाव बढ़ने की कोई ग्यारंटी नहीं- किसानों द्वारा घरों में प्याज का भंडारण तो कर दिया। लेकिन दाम बढने की कोई ग्यारंटी नही है कि प्याज के दाम बढ़ेंगे। 2 से 3 माह से ज्यादा समय तक घरों में प्याज का भंडारण नहीं किया जा सकता है। इससे अधिक समय रखने पर प्याज में बीमारी लगने के साथ सड़न पैदा होने का खतरा रहता है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.