वर्ल्ड डायबिटीज डे स्पेशल: अपनाएं ये आदतें, कभी नहीं होगी यह बीमारीUpdated: Tue, 14 Nov 2017 02:51 PM (IST)

बेहतर होगा कि इससे बचने के तरीके पहले ही अपना लिए जाएं ताकि आप इस बीमारी की चपेट में न आ सकें।

मल्टीमीडिया डेस्क। डायबिटीज जानलेवा होती जा रही है। बेहतर होगा कि इससे बचने के तरीके पहले ही अपना लिए जाएं ताकि आप इस बीमारी की चपेट में न आ सकें। वर्ल्ड डायबिटीज डे के मौके पर हम यहां आपको बता रहे हैं कुछ ऐसे तरीके जिन्हें रोजाना अपनी दिनचर्या में शामिल कर डायबिटीज से बच सकते हैं, इसे कंट्रोल कर सकते हैं:

- वजन कम करने के चक्कर में कभी भी एक टाइम का आहार स्किप ना करें। यह बहुत बड़ी गलती है और इस वजह से आप बहुत जल्दी डायबिटीज के शिकार हो सकते हैं। इसलिए दिन में कई बार थोड़ी थोड़ी मात्रा में खाएं और डाइट में हेल्दी चीजों का सेवन बढ़ा दें। इससे डायबिटीज का खतरा काफी हद तक कम हो जाता है।

- डाइट में जितनी अधिक से अधिक मात्रा में फाइबर युक्त चीजों को शामिल करेंगे, डायबिटीज का खतरा उतना ही कम होता जायेगा। इसके लिए रोजाना ब्राउन राइस, ओट्स, नट्स इत्यादि का सेवन बढ़ा दें।

- उचित व्यायाम अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। अध्ययन बताते है की रोजाना एक्सरसाइज करने से हमारा मेटाबॉलिजम भी अच्छा रहता है जो की डायबिटीज के रिस्क को भी कम करता है।

- अपने खाने में शुगर का कम से कम इस्तमाल करे इससे शरीर में इन्सुलिन को संतुलित करना आसान है।

- लम्बे समय तक धूम्रपान करने से हृदय रोग और हार्मोन प्रभावित होने शुरू हो जाते है। इस आदत छोड़ देने सेआपका हेल्थ तो अच्छी रहेगी, साथ ही डायबिटीज भी कंट्रोल रहेगी।

- डायबिटीज की शुरुआत के साथ सबसे पहले हृदय पर बुरा प्रभाव पढ़ता है। इसलिए डायबिटीज को चेक करने साथ-साथ अपने कोलेस्ट्रॉल के स्तर पर नजर रखने की जरूरत है।

- फलो में प्राकृतिक चीनी बहुत अच्छी मात्रा में पाई जाती है। जो की आपकी मिनरल्स और विटामिन्स की कमी को पूरा करेंगे साथी आपकी शुगर को भी कंट्रोल करती है। इसके लिए सबसे अच्छा फल है केला।

- डायबिटीज के रोगियों के लिए सोया प्रोटीन एक बहुत अच्छा खाद्य पदार्थ है। सोया में इसोफ़्लवोनेस पाया जाता है जो ब्लड में शुगर को कम करता है और आपके शरीर को भी स्वस्थ रखता है।

- जितना अधिक आप तनाव लेंगे उतना अधिक आप अनहेल्दी लाइफस्टाइल जीने लगेंगे। तनाव के हॉर्मोन्स रक्त शर्करा के स्तर में परिवर्तन लाते हैं और सीधा आपके डायबिटीज के जोखिम को बढ़ाते हैं।

- जैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, उच्च रक्तचाप, हृदय रोग और अन्य स्वास्थ्य समस्याओं का जोखिम भी बढ़ जाता है जो डायबिटीज से जुड़े हैं। इसलिए, 45 साल की उम्र के बाद, हर साल नियमित रूप से पूर्ण हेल्थ चैकअप जरूरी है।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.