अप्रैल से सस्ती हो सकती हैं कैंसर और डायबिटीज की दवाएंUpdated: Thu, 15 Jan 2015 02:25 AM (IST)

कैंसर और डायबिटीज जैसे गम्भीर रोगों के मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। मरीजों को अप्रैल से कुछ दवाएं सस्ती मिलेंगी।

ग्वालियर। कैंसर और डायबिटीज जैसे गम्भीर रोगों के मरीजों के लिए राहत भरी खबर है। ऐसी बीमारी जिनके इलाज में लंबे समय तक मरीजों को महंगी दवाओं का सेवन करना पड़ता है, उन्हें केन्द्र सरकार ने सस्ता करने की पहल की है। अप्रैल से यह दवाइयां मरीजों को वर्तमान मूल्य से कम रेट पर उपलब्ध हो सकेंगी।

दरअसल हार्ट, डायबिटीज और कैंसर जैसे गम्भीर रोगों का इलाज काफी महंगा है। दवाएं काफी महंगी होती हैं, कई मरीज दवा खरीदने में असमर्थ होते हैं। इसके चलते केन्द्र सरकार ने 574 दवाओं को डीपीसीओ की कंट्रोल कैटगरी में शामिल किया है। अपै्रल से 574 दवाइयां सस्ती हो जाएंगी।

सभी दवाएं नहीं होंगी सस्तीः

डीपीसीओ (ड्रग पावर कंट्रोल ऑर्डिनेंस) में दो कैटगरी होती है। कंट्रोल और नॉन-कंट्रोल। कंट्रोल कैटगरी में शामिल होने वाली दवा की रेट और एमआरपी पर सरकार का नियंत्रण होता है। सरकार ने गम्भीर रोगों की ऐसी 574 दवाइयां, जिनकी सबसे ज्यादा डिमांड रहती है, उन्हें नॉर्मल कैटगरी में शामिल किया है। इसके चलते सभी दवाइयां सस्ती नहीं होंगी। केवल वही सस्ती होंगी जिन्हें नॉर्मल कैटगरी में शामिल किया है।

इन बीमारियों की दवा होगी सस्तीः

- कार्डियक

- हायपरटेंशन

- डायबिटीज

- कैंसर

- लाइफ सेविंग एंटीबायोटिक्स भी सस्ते होंगे

इनका कहना है

कार्डियक, कैंसर जैसे गंभीर रोगों से ग्रसित मरीजों को अप्रैल से कुछ दवाएं सस्ती मिलेंगी। इससे मरीजों को काफी राहत मिलेगी। वहीं, हमारा भी सरकार से एक निवेदन है कि जो दवाइयां सस्ती होने जा रहीं हैं। उनका एक्जिसटिंग स्टॉक विक्रेताओं पर है, उसे कंपनी को वापस करवाने में मदद करें। जिससे दवा विक्रेताओं को भी परेशानी न हो।

-गिरीश अरोरा, अध्यक्ष, डिस्ट्रिक ग्वालियर केमिस्ट एसोसिएशन

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.