पक्षियों से बचाने की कवायद : मछलियों को जाल से ढंक दियाUpdated: Fri, 26 Jun 2015 08:04 PM (IST)

परेशान प्रदीप ने एक अनूठा प्रयोग कर डाला। उसने पूरे तालाब को नेट यानी जाल से ढंक दिया।

ब्रजराज सिंह परमार,अनिल तोमर.मुरैना। डोंगरपुर किरार गांव के प्रदीप यादव ने मार्च 2015 में अपने खेत की 1900 वर्गफीट जमीन में मछली पालन के तलाब बनाया। तालाब में मछलियां भी डालीं, लेकिन बगुले, कौए व अन्य पक्षी मछलियों के बच्चों को खा जाते।

ऐसे में परेशान प्रदीप ने एक अनूठा प्रयोग कर डाला। उसने पूरे तालाब को नेट यानी जाल से ढंक दिया। नेट को इस तरीके से लगाया कि अब मछलियां पूरी तरह से पक्षियों से सुरक्षित हैं।

मछली पालन में किसानों को 40 से 50 फीसदी का मुनाफा होता है। यानी 100 रुपए किसान ने लगाए हैं तो उसे 140 से 150 रुपए मिल जाते हैं। मुनाफे को देखते हुए प्रदीप ने मछली पालन का काम शुरू किया है। प्रदीप के मुताबिक उसने मछली पालन पर अभी तक 1 लाख रुपए की लागत लगाई है।

ऐसे आया आइडिया

प्रदीप ने बताया कि पहली बार मछलियों के बच्चे तालाब में डाले तो कुछ अज्ञात वजह से मर गईं और बाकी की बगुले व कौओं की शिकार हो गईं। इसी दौरान नदियों में मछली पकड़ने वाले लोगों ने बताया कि जिस जाल से मछली पकड़ते हैं उसे तालाब के ऊपर लगा दो। बस 15 हजार का जाल खरीदा और बांस गाड़कर जाल से पूरे तालाब को ढक दिया। इससे पक्षियों का तालाब में आना बंद हो गया। साथ ही अन्य पशु व कीट भी तालाब में जाने से रुक गए। इस व्यवस्था के बाद तालाब में मछलियों के नए बच्चे डाले गए। अब ये बच्चे तेजी से बड़े हो रहे हैं।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.