ट्रांसप्लांट के बाद LS पहुंची सुषमा, स्पीकर ने कहा आपकी आवाज सुनकर अच्छा लगाUpdated: Wed, 15 Mar 2017 03:28 PM (IST)

लोकसभा स्पीकर ने कहा कि इतने दिनों बाद सदन में आपकी दमदार आवाज सुनकर अच्छा लगा।

नई दिल्ली। केंद्रीय विदेश मंत्री सुषमा स्वराज किडनी प्रत्यारोपण के बाद बुधवार को पहली बार लोकसभा पहुंची। इस दौरान उन्होंने अमेरिका में भारतीयों पर हुए हमलों पर उठे सवालों का जवाब दिया। जैसे ही उन्होंने अपना भाषण खत्म किया लोकसभा स्पीकर ने कहा कि इतने दिनों बाद सदन में आपकी दमदार आवाज सुनकर अच्छा लगा।

इससे पहले लोकसभा पहुंचने पर पूरे सदन ने उनका स्वागत करते हुए उनके उत्तम स्वास्थ्य की कामना की। आपको बता दें कि श्रीमती स्वराज को नवंबर, 2016 में गुर्दे की समस्या के बाद अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती होना पड़ा था। वह तब से अवकाश पर थीं।

बुधवार को उन्होंने अमेरिका में प्रवासी भारतीयों पर हुए हमलों पर एक बयान पढ़ा और खड़गे के सवालों का जोरदार ढंग से जवाब दिया। सुषमा ने जानकारी देने से पहले अध्यक्ष और सभी सांसद साथियों के उनके जल्दी ठीक होने की कामना के लिए धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, 'मैं इतनी अस्वस्थता के बाद ठीक होकर सदन में लौटी हूं। आप सभी सांसदों के आशीर्वाद से मैं ठीक हो गई हूं। आपने जिस तरह से सदन में मेरा स्वागत किया है मैं उसके लिए हृदय से आभार जताती हूं।'

सुषमा के बयान के बाद सदस्यों ने उनका मेजें थपथपाकर स्वागत किया।

सदन को संबोधित करते हुए सुषमा स्वराज ने प्रवासी भारतीयों पर हमले को लेकर कहा, ‘मैंने श्रीनिवास कुचीभोटला और दीप राय के परिजनों से बात की। इसके अलावा मैंने इन मुद्दों को अमेरिकी प्रशासन के उच्च अधिकारियों के समक्ष भी उठाया है।

उन्होंने कहा, ‘अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सहित अमेरिका के प्रशासन ने इन घटनाओं की निंदा की है। यूएस के सेक्रेट्री जॉन केरी ने भी अमेरिका में भारतीय पर हमले की निंदा की है। अमेरिकी प्रशासन इन मामलों की जांच कर रहा है और भारतीयों की सुरक्षा को सुनिश्चित करने की कोशिश कर रहा है।’

इससे पहले विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे ने सरकार पर हमला करते हुए करते हुए कहा कि अमेरिका में भारतीयों पर हमले हो रहे हैं, और पीएम और सरकार चुप है। हर मुद्दे पर ट्वीट करने वाले पीएम और विदेश मंत्री इस मुद्दे पर मौन क्यों हैं? सुषमा ने खड़गे को जवाब देते हुए कहा कि कोई भारतीय बाहर संकट में हो और सरकार चुप्पी साधे ऐसा हो ही नहीं सकता।

इस पर जवाब देते हुए सुषमा स्वराज ने कहा कि मेरा ऑपरेशन हुआ था, फिर भी मैंने लगातार इस मसले पर नजर बनाए रखा. उन्होंने ये भी कहा कि पीएम मोदी घटना के दिन चुनाव प्रचार में व्यस्त थे, फिर भी वो लगातार इस मुद्दे पर हमसे बातचीत कर रहे थे।

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.