शशिकला को मिल रहे वीआईपी ट्रीटमेंट के खिलाफ जांच के आदेशUpdated: Thu, 13 Jul 2017 06:25 PM (IST)

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आरोप लगाया है कि अन्नाद्रमुक (अम्मा) की नेता वीके शशिकला को यहां की जेल में विशेष सुविधा दी जा रही

बेंगलुरु। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने आरोप लगाया है कि अन्नाद्रमुक (अम्मा) की नेता वीके शशिकला को यहां की जेल में विशेष सुविधा दी जा रही है। उनका खाना विशेष रसोई में तैयार होता है। कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्दरमैया ने मामले की उच्च स्तरीय जांच का आदेश दिया है। उन्होंने कहा है कि रिपोर्ट आने के बाद दोषियों के खिलाफ कठोर कार्रवाई की जाएगी।

इस बात की चर्चा है कि शाही सुविधा के लिए वरिष्ठ जेल अधिकारियों को दो करोड़ रुपये की रिश्वत दी गई है। उप महानिरीक्षक (डीआइजी) (कारावास) डी रूपा ने पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) (कारावास) एचएस सत्यनारायण राव को बुधवार को सौंपी गई अपनी रिपोर्ट में यह आरोप लगाया है।

10 जुलाई को जेल का दौरा करने के बाद सौंपी गई चार पृष्ठों की अपनी रिपोर्ट में डीआइजी ने कहा है, 'अफवाह है कि आपके (राव) ध्यान में लाने के बाद भी रसोई चल ही रही है। इस बात की भी चर्चा है कि इसके लिए दो करोड़ रुपये की रिश्वत दी गई है। दुर्भाग्य से ये आरोप आपके भी खिलाफ जाते हैं। इसलिए आग्रह है कि आप इस मामले को देखें और दोषी अधिकारियों के खिलाफ निर्ममता से अनुशासनिक कार्रवाई करें।'

डीजीपी राव ने किया खंडन : राव ने रूपा द्वारा लगाए गए इस आरोप का खंडन किया है। उन्होंने इसे पूरी तरह झूठ, निराधार और असभ्य करार दिया है। उन्होंने कहा है कि वे अपने कनिष्ठ अधिकारी के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करेंगे।

फरवरी से जेल में है शशिकला : आय से अधिक संपत्ति के मामले में सजा सुनाए जाने के बाद इस साल फरवरी से शशिकला बेंगलुर की प्रपन्ना अग्रहरा सेंट्रल जेल में बंद है। उसके सहयोगी वीएन सुधाकरन व एल्वारासी को भी चार साल की सजा मिली है।

तेलगी को भी मिली हैं सुविधाएं : डीआईजी रूपा ने रिपोर्ट में कहा है कि शशिकला ही नहीं जाली स्टांप घोटाले के सरगना अब्दुल करीम तेलगी को भी जेल में खास सुविधाएं मिली हुई हैं। तेलगी की बैरक में विचाराधीन कैदी उसकी सेवा करते हैं। छह माह पहले कोर्ट के आदेश पर तेलगी को व्हीलचेयर चलाने के लिए एक सहायक दिया गया था। स्वस्थ होने के बाद भी उसकी सेवा जारी है।

कौन हैं रूपा : वर्ष 2000 में संघ लोकसेवा आयोग की परीक्षा में 43वां स्थान पाने वाली डी. रूपा असाधारण पुलिस अधिकारी मानी जाती हैं। राष्ट्रीय पुलिस अकादमी हैदराबाद में प्रशिक्षण के दौरान उन्हें पांचवां स्थान मिला। अचूक निशाने के लिए उन्हें कई अवार्ड मिले हैं। उत्तम सेवा के लिए 26 जनवरी 2016 को उन्हें राष्ट्रपति ने पुलिस पदक से सम्मानित किया था। उन्होंने ही मध्य प्रदेश की पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती को गिरफ्तार किया था।

संबंधित खबरें

जरूर पढ़ें

FOLLOW US

Copyright © Naidunia.